उन्नाव में युवक की धारदार औजार से गला काट कर नृशंस हत्या, गाँव में चर्चा का बाजार गर्म
402

उन्नाव/उन्नाव जनपद के बीघापुर थाना क्षेत्र के गाँव ऊँचगाँव सानी में गुरुवार की रात एक युवक की धारदार औजार से गला काट कर नृशंस हत्या कर दी गई थी। मृतक मुकेश कुमार वर्मा पुत्र स्व0 महा प्रसाद वर्मा उम्र 32 वर्ष निवासी ऊँचगाँव सानी थाना बीघापुर गुरुवार की शाम लगभग 8 बजे घर से खेतों का काम करवाने के लिए मजदूर ढूंढ़ने अपनी मोटरसाइकिल से निकला था। देर रात तक वापस घर न लौटने पर माता रुकमणी देवी पत्नी प्रियंका ने पड़ोसियों को मुकेश के घर न लौटने की जब बात बताई तो पड़ोसियों ने आस पास मुकेश को ढूंढ़ने का प्रयास किया।

किन्तु मुकेश की कोई भी जानकारी नहीं मिल सकी। सुबह गाँव की ही कमलेशा पत्नी देश राज बागों में आम बीनने गई थी तो उसने वहां मोटरसाइकिल खड़ी देखी व सूर्य कुमार शर्मा के खेत में मुकेश का शव खून से लतपत पड़ा देखा तो उसने परिजनों को सूचना दी। जैसे ही यह खबर ग्रामीणों को पता चली तो ऊँचगाँव सानी से बाजीखेड़ा मार्ग के किनारे सूर्य कुमार शर्मा की बाग में लोगों का हुजूम जमा हो गया।गाँव के ही किसी युवक ने थाना पुलिस को सूचना दी। मौके पर पहुंचे अपर पुलिस अधीक्षक उत्तरी अनूप कुमार सिंह व क्षेत्राधिकारी बीघापुर उमेश चन्द्र त्यागी तथा प्रभारी निरीक्षक मनोज कुमार मिश्रा दलबल के साथ मौके पर पहुंचे और शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेजा। वहीं परिजनों ने किसी से भी रंजिश न होने की बात कही है।मृतक अपने पीछे अपनी विधवा माँ रुकमणी, पत्नी प्रियंका व 7 वर्ष का पुत्र राज को रोता बिलखता छोड़ गया है।

अभी तक नहीं सुलझी मुकेश हत्याकांड की गुत्थी ,  गाँव में चर्चाओं का बाजार गर्म

ऊँचगाँव सानी में गुरुवार की रात हुई मुकेश की धारदार औजार से नृशंस हत्या के मामले में पुलिस अभी तक किसी नतीजे पर भले ही न पहुंची हो लेकिन गाँव में हत्या से जुड़ी चर्चाओं का बाजार गर्म है। घटना स्थल पर मिले साक्ष्य जिनमें सिगरेट के टुकड़े, अंग्रेजी शराब व बियर की बोतल,खाली डिस्पोजल गिलास आदि को तो पुलिस ने फोरेंसिक जाँच के लिए प्रयोगशाला भेज दिया है।

सूत्र बताते हैं कि पुलिस ने कुछ परिजनों के मोबाइल फोन भी कब्जे में लिए हैं। जाँच में नतीजा कुछ भी निकले परंतु गंवई चर्चा में जो कानाफूसी हो रही है,उस पर विश्वास करें तो मृतक की माँ रुकमणी व मृतक की पत्नी प्रियंका में लगभग डेढ़ वर्ष  से बातचीत बंद है।बताया यह भी जाता है कि मृतक की पत्नी ने मृतक की माँ अर्थात अपनी विधवा सास को कुछ समय पहले जहर देकर मारने का भी असफल प्रयास किया था।

कानाफूसी करने वाले यह भी बताते है कि मृतक के एक नजदीकी रिश्तेदार का चचेरे भाई से मृतक की पत्नी से नजदीकी सम्बन्ध बताये जाते हैं।वहीं मृतक से कुछ दिन पहले यही नजदीकी रिश्तेदार डेढ़ लाख रुपए भी ले गया था। जिसको मृतक ने हाल ही में वापस मांगा था।गांव की महिलाओं के अनुसार मृतक अपनी माँ को साथ में ही भोजन कराता था। अब इन सब बातों की तह में जाया जाए तो वह करीबी रिश्तेदार कौन है? मृतक की माँ से किस बात को लेकर अपनी बहू से बातचीत लम्बे समय से बन्द है? बहू ने सास को मारने का प्रयास क्यों किया था? मृतक माँ को अपने साथ क्यों खिलाता था? क्या उसे अपनी पत्नी पर भरोसा नहीं था?अब यह तो गँवईं चर्चाएं हैं बिना किसी प्रमाण के, असली गुनहगार क्या पुलिस की जांच से पकड़ में आएंगे।यह समय के गर्त में छिपी बात है।

 

News Reporter

Leave a Reply