झाँसी: बुंदेलखंड विश्वविद्यालय में मनाया गया पराक्रम दिवस

रिपोर्ट- विवेक राजपूत झाँसी

झाँसी बुंदेलखंड विश्वविद्यालय में आयोजित नेताजी सुभाष चंद्र बोस जयंती के अवसर पर भारतीय जनता पार्टी के सांसद अनुराग शर्मा ने कहा कि पिछले 70 सालों में देश के इतिहास को भुलाने की कोशिश की गई है।

फिर वह चाहे देश के महापुरुष हों या फिर गौरवशाली अतीत, लेकिन आज सरकार न केवल देश के गौरवशाली इतिहास से नई पीढ़ी को रूबरू करा रही है, बल्कि 70 सालों में जिन्हें भुलाने की कोशिश की गई, उनको भी लगातार याद दिला रही है। फिर वह चाहे सुभाष चंद्र बोस हो या फिर सरदार वल्लभभाई पटेल।

उन्होंने कहा कि राष्ट्रवाद की बात तब होती है, जब राष्ट्र का गौरव उसका अतीत होता है। यदि अतीत भुला दिया जाएगा तो गौरव भी नहीं बचेगा। कोरोना काल में भारत ने पूरी दुनिया में एक नया इतिहास रचा है। जो काम विकसित देश नहीं कर पाए, वह भारत जैसे देश ने करके दिखा दिया। पूरी दुनिया भारत का लोहा मान रही है।

इससे पूर्व कार्यक्रम में सदर विधायक रवि शर्मा, बुंदेलखंड विश्वविद्यालय के कुलपति प्रोफेसर जेबी वैशंपायन, नगर निगम के मेयर रामतीर्थ सिंघल, वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक दिनेश कुमार पी तथा जिलाधिकारी आंद्रा वामसी ने दीप प्रज्वलित कर समारोह का शुभारंभ किया। वक्ताओं ने नेताजी सुभाष चंद्र बोस के व्यक्तित्व एवं कृतित्व पर प्रकाश डालते हुए छात्र-छात्राओं से उनके जीवन से प्रेरणा लेकर राष्ट्रहित में अपना सर्वस्व न्योछावर करने का आव्हान किया।

Leave a Reply