कानून की जानकारी से निर्धन एवं असहाय लोगों को लाभ पहॅुचाना है -जिला न्यायाधीश
संतोषसिंह नेगी/चमोली/ जिला न्यायाधीश राजेन्द्र सिंह चौहान ने कहा कि न्याय चला निर्धन की ओर का मुख्य उद्देश्य समाज के प्रत्येक व्यक्ति को कानून की जानकारी से जोडकर निर्धन एवं असहाय लोगों को लाभ पहॅुचाना है। दशोली विकास खण्ड के राजकीय इण्टर काॅलेज बैरांगना में आयोजित बहुउद्देशीय विधिक साक्षरता, जागरूकता एवं स्वास्थ्य परीक्षण शिविर में न्यायाधीश ने कहा कि विधिक सेवा प्राधिकरण द्वारा जिले के दूरस्थ ग्रामीण क्षेत्रों के लोगों तक कानूनों की जानकारी उपलब्ध कराई जा रही है। कहा कि कोई भी व्यक्ति जब अपराध करता है तो उसे दण्ड दिये जाने का प्राविधान है। इसलिए लोगों को कानून के दायरे में रह कर अपने कर्तव्यों का निर्वहन करना चाहिए। इस अवसर पर उन्होंने खेलो इण्डिया खेलो में उत्तराखण्ड व जनपद का नाम रोशन करने वाले खल्ला गांव निवासी परमजीत बिष्ट को भी सम्मानित किया। 
इस दौरान मुख्य न्यायिक मजिस्टेªट अखिलेश कुमार पाण्डे ने विभिन्न विधिक सेवाओं की जानकारी देते हुए कहा कि इस प्रकार के शिविरों से आम लोगों को कानूनी जानकारियों के साथ-साथ सरकार द्वारा संचालित योजनाओं का लाभ विभागों द्वारा लगाये गये स्टालों के माध्यम से मिलता है। वहीं सिविल जज (सी0डि0)/जिला विधिक सेवा प्राधिकरण सचिव रवि प्रकाश शुक्ला ने प्राधिकरण के उद्देश्यों तथा कार्यो के बारे में विस्तार से जानकारी दी। शिविर में अधिवक्ता सतीश सेमवाल व रैजा चैधरी ने विभिन्न कानूनों की जानकारी दी। 
पुलिस उपाधीक्षक पीडी जोशी ने विभिन्न प्रकार के अपराधों की जानकारी दी। शिविर में जिला समाज कल्याण अधिकारी सुरेन्द्र लाल ने विभाग की योजनाओं केे बारे में बताया। स्वास्थ्य विभाग द्वारा लोगों का स्वास्थ परीक्षण कर दवाइया वितरित की गई। शिविर में विभिन्न विभागों ने स्टालों के माध्यम से विभागीय योजनाओं की जानकारी दी। इस अवसर पर हिमाद व नवज्योति महिला कल्याण संस्थान के सदस्यों ने भी लोगों को जानकारी दी गई।
इस अवसर पर पूर्व प्रमुख भगत सिंह बिष्ट, महानंद बिष्ट, पीटीए अध्यक्ष राजेन्द्र सिंह बिष्ट, किरन पुरोहित, क्षेत्र के निवर्तमान प्रधान, मण्डल घाटी की महिला संगठन की महिलाएं तथा अभिभावक मौजूद थे। कार्यक्रम का संचालन अधिवक्ता ज्ञानेन्द्र खंतवाल ने किया।

Leave a Reply