गोदली इन्टर काॅलेज में भूस्खलन ने बढ़ाई छात्र छात्राओं की समस्या
सन्तोषसिंह नेगी / चमोली के  पोखरी ब्लाक में राजकीय काँलेज गोदली  के पास भूस्खलन की स्थिति बनी हुई है यहां छ: वर्षो से भूस्खलन हो रहा है लेकिन प्रशासन और जनप्रतिनिधि का ध्यान इस पर नही है। स्कूल के द्वारा स्थानीय प्रशासन को पिछले साल भी भूस्खलन   होने की जानकारी दी गई है उसके बाद राजस्व विभाग ने निरीक्षण किया। लेकिन समस्या जस की तस रही इस साल  लगातार बारिश  होने के बावजूद  स्कूल के दोनो ओर टूटता जा रहा है। इससे भूस्खलन बढ़ाता जा रहा है और अभी तक तहसील प्रशासन भूस्खलन क्षेत्र तक नही पहुंच पाया वही सहायक अभियंता कृष्ण पाल ने कहा जहां भी भूूूूस्खलन जैसी स्थिति है बरसात के बाद दिवार लगाई जागेगी
छात्र छात्राओं का कहना है कि भूस्खलन बढने से स्कूल आने मेें दिक्कत हो रही है रास्तों की स्थिति इतनी खराब है स्कूल आने से घर पहुचने तक जगह -जगह जोखिम उठाना पडता है। वही दूसरी और  पेड़ वाले गुरू के नाम से विख्यात धनसिंह घरिया ने कहा स्कूल के दोनो ओर पिछले साल के पाँच सौ पेड़ो का रोपण किया था। भूस्खलन आने से भारी नुकसान हुआ है।
भूस्खलन का कारण
कलसिर   से गुडम, नैल,नौली तक पीडब्ल्यूडी पोखरी के  तहत संडक की कटिंग की गयी  विभाग ने छ: वर्षो से सड़क का कार्य अदुरा छोड़कर ऐसी स्थिति बन गयी है।
विभाग की  लापरवाही से  भूस्खलन की स्थिति पैदा हो गयी है सड़क की कटिंग   गोदली तक की गयी आगे सड़क का कार्य छ: सालों से बंद पड़ा है।अब स्थिति ये है की सडक जगह -जगह से भूस्खलन की चपेट में आने से सड़क विद्यार्थियों केे लिए मुसीबत बन गयी है।
राजकीय इन्टर कालेज दुर्गम होने के कारण प्रशासन यहां तक नही पहुंच पाता है। स्कूल में नौ ग्राम पंचायत के छात्र छात्रायें पढाई करने आते है। वही रास्ता की वजह से जगह- जगह पैदल होने के कारण बच्चों के साथ बडा हादसा हो सकता है। मामले का पूरा जायाजा लेते हुऐ अभिभावक संघ के अध्यक्ष संदीप बर्त्वाल ने कहा स्कूल में जो भूस्खलन की  स्थिति बनी हुई है। जिससे छात्र छात्राओं में भयंं बना हुआ है अगर कोई छात्र भारी बारिश मेें भूस्खलन की जद मे आयेगा तो इसकी जिम्मेदारी अब शासन और प्रशासन की होगी।

Leave a Reply