पूर्वांचल महाकुम्भ से अमित शाह का केजरीवाल पर निशाना
129

रामकुमार शर्मा। दिल्ली के रामलीला मैदान में रविवार को भाजपा की ओर से महारैली का आयोजन किया गया जिसमें लाखों पूर्वांचली लोगों की भीड़ उमड़ी। भाजपा ने इसे पूर्वांचल महाकुम्भ का नाम दिया। इस रैली का उद्देश्य 2019 के चुनावों को ध्यान में रखते हुए पूर्वांचल को अपनी ओर खींचना था। पूर्वांचली लोगों की दिल्ली में अच्छी ख़ासी आबादी है जिसकी लोकसभा चुनावों में बड़ी हिस्सेदारी है। इसी को ध्यान में रखकर भाजपा ने इस रैली का आयोजन किया । इस रैली में भाजपा के कई बड़े नेता जैसे अमित शाह , डॉक्टर हर्षवर्धन, मनोज तिवारी , शाहनवाज़ हुसैन, राजेश भाटिया, राजीव ठाकुर , अरुण सिंह आदि मौजूद थे।
इस कार्यक्रम में मुख्य अतिथि भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह थे। उन्होंने अपने भाषण में कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी और दिल्ली के मौजूदा मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल पर हमला बोला। जिसमें उन्होंने कहा कि कोंग्रेस और आप पार्टी को अपने लोगों से ज़्यादा रोहिंग्या और बांग्लादेशी घुसपेठियो की ज़्यादा चिंता है, और अगर 2019 में भाजपा की सरकार आयी तो एक एक घुसपेठिए को चुन चुन के बाहर किया जाएगा। उन्होंने अपना रिपोर्ट कार्ड देते हुए कहा की उत्तर प्रदेश बिहार झारखंड उड़ीसा को पिछली सरकारें पाँच साल में पाँच लाख करोड़ रुपये देती थी लेकिन मोदी सरकार ने आने के बाद साढ़े चार साल में तेरह लाख अस्सी हज़ार करोड़ रुपये दिये जिसमें से ग्यारह लाख करोड़ रुपये ख़र्च भी कर दिए गए। उन्होंने अपने भाषण में अनेको हाईवे परियोजना , कारख़ानों, वाराणसी में ट्रोमा सेंटर , छः मेडिकल कॉलेज एक आई.आई. एम देने जैसी अपनी अनेकों उपलब्धियाँ गिनाईं। अपने क़रीब बीस मिनट भाषण में उन्होंने गठबन्धन पर भी चुटकी ली और जनता से मज़बूत सरकार बनाने को कहा ।

मनोज तिवारी ने गाया गाना
भाजपा के दिल्ली से प्रदेश अध्यक्ष एवम् सांसद मनोज तिवारी ने मंच सम्भालते हुए भोजपुरी में गाना गाया तो जनता झूम उठी और नाचने लगी। उनसे पहले जानी मानी छोटी सी उम्र की गायिका मैथिली ठाकुर ने भी भोजपुरी गीत गाकर लोगों का मन मोह लिया।

बारिश में टिके रहे लोग
जब मनोज तिवारी मंच पर बोलने के लिए गए तो बारिश होने लगी लेकिन लोग बारिश में भीगते हुए भी मनोज को सुनते रहे, इस पर मनोज ने कहा कि चाहे बारिश आए या आँधी राष्ट्र्भक्ति के आगे सब बह जाएँगे।

मनोज तिवारी ने लोगों से कहा पहले लोग पूर्वांचल के लोगों को मज़दूर और बहुत ही ग़रीब समझते ही और उनकी इज़्ज़त नहीं करते थे लेकिन अब बिहारी नाम सुनकर लोग सम्मान करते हैं। उन्होंने अपने भाषण में दिल्ली की तीन बेटियों के भूख से मरने पर भी अफ़सोस जताया और इस मुद्दे पर केजरीवाल सरकार को कोसा। और अबकि बार दिल्ली की सातों सीटें जीतने का भी वायदा किया।

News Reporter

Leave a Reply