; एमसीडी चुनाव पास आता देख भाजपा षणयंत्र रच रही, अब भाजपा के झांसे में नहीं आएंगे- जानें क्या है पूरा मामला - Namami Bharat
एमसीडी चुनाव पास आता देख भाजपा षणयंत्र रच रही, अब भाजपा के झांसे में नहीं आएंगे-  जानें क्या है पूरा मामला

*भाजपा नार्थ एमसीडी के मुट्ठी भर कर्मचारियों को पक्का कर वाल्मीकि समाज को गुमराह और आर्थिक रूप से कमजोर करने का षणयंत्र रच रही- राखी बिड़लान*

*- मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल के नेतृत्व में 2018 में ही विधानसभा के विशेष सत्र में सफाई कर्मचारियों को पक्का करने का प्रस्ताव पास किया गया था- राखी बिड़लान*

*- भाजपा हर एमसीडी चुनाव में कर्मचारियों को पक्का करने का वादा करती है और हर बार उसका घोषणा पत्र जुमला साबित हुआ है- राखी बिड़लान*

*- भाजपा सिर्फ वाहवाही लूटना चाहती है, हम इसका विरोध करते हैं और उसके असल चेहरे को बेनकाब कर लोगों के सामने लाएंगे- राखी बिड़लान*

*- भाजपा ने सभी कर्मचारियों को पक्का करने का वादा किया था, लेकिन सिर्फ 500 को कर रही- कुलदीप कुमार*

*- आम आदमी पार्टी सभी कर्मचारियों को पक्का कराने के लिए प्रतिबद्ध है, इसके लिए बड़ा आंदोलन करेंगे- कुलदीप कुमार*

*- एमसीडी चुनाव पास आता देख भाजपा नौटंकी कर रही हैं, वाल्मीकि समाज के लोग अब भाजपा के झांसे में नहीं आएंगे- रोहित मेहरौलिया*

आम आदमी पार्टी के विधायकों ने नार्थ एमसीडी में कार्यरत चंद सफाई कर्मचारियों को नियमित करने का प्रस्ताव लाकर वाहवाही लूटने की कोशिश कर रही भाजपा को आड़े हाथ लिया। विधायक राखी बिड़लान ने कहा कि भाजपा, नार्थ एमसीडी के मुट्ठी भर कर्मचारियों को पक्का कर वाल्मीकि समाज को गुमराह और आर्थिक रूप से कमजोर करने का षणयंत्र रच रही है, जबकि मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल के नेतृत्व में 2018 में ही विधानसभा के विशेष सत्र में सफाई कर्मचारियों को पक्का करने का प्रस्ताव पास किया गया था। 

भाजपा हर एमसीडी चुनाव में कर्मचारियों को पक्का करने का वादा करती है और हर बार उसका घोषणा पत्र जुमला साबित हुआ है। भाजपा सिर्फ वाहवाही लूटना चाहती है। हम इसका विरोध करते हैं और उसके असल चेहरे को बेनकाब कर लोगों के सामने लाएंगे। विधायक कुलदीप कुमार ने कहा, भाजपा ने सभी कर्मचारियों को पक्का करने का वादा किया था, लेकिन सिर्फ 500 को पक्का कर रही है। आम आदमी पार्टी सभी कर्मचारियों को पक्का कराने के लिए प्रतिबद्ध है। इसके लिए हम बड़ा आंदोलन करेंगे। वहीं, विधायक रोहित मेहरोलिया ने कहा कि एमसीडी चुनाव पास आता देख भाजपा नौटंकी कर रही हैं। वाल्मीकि समाज के लोग अब भाजपा के झांसे में नहीं आएंगे।

*2012 और 2017 के घोषणा पत्र में किए वादों पूरा न कर वादा खिलाफी कर रही भाजपा- कुलदीप कुमार*

आम आदमी पार्टी के विधायक कुलदीप कुमार, विधायक राखी बिड़लान और विधायक रोहित मेहरौलिया समेत सफाई कर्मचारी नेता संतलाल चावड़िया ने आज पार्टी मुख्यालय में सफाई कर्मचारियों को पक्का करने के मुद्दे पर एक महत्वपूर्ण प्रेस वार्ता को संबोधित किया। प्रेस वार्ता को संबोधित करते हुए विधायक कुलदीप कुमार ने कहा कि पिछले 15 सालों से दिल्ली नगर निगम के अंदर भाजपा की सरकार है। भाजपा की सरकार ने अपने सारे भ्रष्टाचार की हदों को पार कर चुकी है। उसी के तहत भाजपा शासित एमसीडी ने सफाई कर्मचारियों को परेशान करने में कोई कसर नहीं छोड़ी है। अभी नगर निगम के अंदर लगातार हमारी पार्टी के पार्षद, हमारे नेता विपक्ष, हमारे नेता यह विषय उठाते रहे हैं कि सफाई कर्मचारियों को पक्का किया जाए। यह बात खुद भाजपा ने अपने मैन्युफेस्टो में भी कही है कि सफाई कर्मचारियों को पक्का किया जाएगा। भाजपा ने अपने 2012 और 2017 एमसीडी चुनाव के मैन्युफेस्टो में कहा कि हम सफाई कर्मचारियों को नियमित करेंगे। जब हमने कहा कि आप सफाई कर्मचारियों को नियमित नहीं कर रहे हैं और आपके नेता बार-बार जाकर हड़तालों में कहते हैं कि हम सफाई कर्मचारियों को नियमित करेंगे। अब नार्थ एमसीडी की स्टैंडिंग कमेटी के अंदर भाजपा एजेंडा लेकर आई है, जिसमें मात्र 500 सफाई कर्मचारियों को पक्का करने का काम करने जा रही है, जबकि एमसीडी में लगभग 6646 सफाई कर्मचारी कार्यरत हैं। आज भाजपा फिर वादा खिलाफी कर रही है। यह बहुत ही निंदनीय है।

*‘आप’ विधायक और पार्षद सफाई कर्मचारियों के हित में सड़क से सदन तक लगातार अपनी आवाज बुलंद करते रहे हैं- राखी बिड़लान*

विधायक राखी बिड़लान ने कहा कि भाजपा ने अभी नार्थ एमसीडी की स्टैंडिंग कमेटी में एक प्रस्ताव पास किया है, जिसमें कुछ मुट्ठी भर कर्मचारियों को पक्का करने की भाजपा की चतुराई दिखाई दे रही है। लेकिन एमसीडी के अंदर लगभग 7 हजार कर्मचारी ऐसे हैं, जो 2003 से लेकर 2006 से पक्का होने की उम्मीद में बैठे हैं। लेकिन भाजपा लगातार समाज के लोगों और कर्मचारियों को गुमराह करती आ रही है। उन लोगों को आर्थिक रूप कमजोर करने का षणयंत्र रच रही है। अब फिर से एक नया षणयंत्र नार्थ एमसीडी की स्टैंडिंग कमेटी के माध्यम से दिखाई दे रहा है कि किस प्रकार से वाल्मीकि समाज के लोगों को मानसिक और आर्थिक तौर पर कमजोर करने का काम भाजपा की संकीर्ण मानसिकता की ओर से किया जा रहा है। लगातार आम आदमी पार्टी के सभी प्रतिनिधि लगातार सफाई कर्मचारियों की मजबूती, उनका आर्थिक विकास, उनका मानसिक और शारीरिक मजबूती को लेकर लगातार प्रयत्नशील रहे हैं और लगातार काम करते हैं। 2018 के अंदर दिल्ली के इतिहास में पहली बार दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल के नेतृत्व में दिल्ली विधानसभा का विशेष सत्र बुलाया गया। जिसमें सर्व सम्मति से मुख्यमंत्री के नेतृत्व में इस प्रस्ताव को पास किया गया कि 2003 से 2006 तक के एमसीडी के जितने सफाई कर्मचारी इस उम्मीद में बैठे हैं कि उन्हें पक्का किया जाए, उनको तुरंत प्रभाव से एमसीडी पक्का करे और न सिर्फ पक्का करे, उनका एरियर और बैकलॉग की जो रकम बनती है, वो दिया जाए। आम आदमी पार्टी के विधायक व पार्षद समेत अन्य लोग लगातार सफाई कर्मचारियों के हित को लेकर सड़क से सदन तक अपनी आवाज को बुलंद कर रहे हैं। 

*वाल्मीकि समाज का आर्थिक और मानसिक शोषण करना बंद करे भाजपा- राखी बिड़लान*

विधायक राखी बिड़लान ने कहा कि मैं एक फिर भाजपा के लोगों को एमसीडी में बैठे स्टैंडिंग कमेटी के लोगों को चेताना चाहती हूं कि समाज के कर्मचारियों के प्रति इस तरह से दोयम दर्जे का जो कार्य आप कर रहे हैं और कुछ मुट्ठी भर लोगों को पक्का कर आप लोग वाहवाही लूटना चाहते हैं, तो हम इसके खिलाफ आवाज बुलंद करेंगे और भाजपा के असल चेहरे को बेनकाब कर लोगों के सामने लाएंगे कि किस प्रकार से आप वाल्मीकि समाज, सफाई कर्मचारियों और एमसीडी कर्मचारियों का दोहन कर रहे हैं और उनको प्रताड़ित कर रहे हैं। 2003 से 2006 से जो कर्मचारी इस उम्मीद में बैठा था कि आज नहीं तो कल उन्हें पक्का किया जाएगा। भाजपा लगातार एमसीडी चुनाव के अपने घोषणा पत्र में इस बिंदु को मुख्य रूप से रखती आई है कि हम सत्ता में आए, तो कर्मचारियों को पक्का करेंगे।

 लेकिन हर बार भाजपा का घोषणा पत्र जुमला साबित हुआ है। एक बार फिर से झुनझुना बजाया जा रहा है, फिर से लालीपॉप कर्मचारियों को वाल्मीकि समाज के लोगों को देने की कोशिश नार्थ एमसीडी की स्टैंडिंग कमेटी कर रही है। हम इसका पुरजोर विरोध करते हैं और मजबूती से यह मांग करते हैं कि जो हमारे 6646 कर्मचारी हैं, सबको बिना किसी भेदभाव के और बिना किसी भ्रष्टाचार के एमसीडी पक्का करे और सबको सारा अधिकार मिले। दिल्ली सरकार और मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल के नेतृत्व में दिल्ली विधानसभा में इस प्रस्ताव को 2018 में पास करके पहले ही एलजी के पास भेज चुकी है। अब भाजपा के लोग वाल्मीकि समाज और वाल्मीकि समाज के सफाई कर्मचारियों का दोहन करना बंद करें। उनका शोषण करना बंद करें। आर्थिक और मानसिक तौर पर अत्याचार करना बंद करें। आम आदमी पार्टी अपने कर्मचारियों के साथ दिन-रात मजबूती के साथ खड़ी है। 

*भाजपा के दलाल कर्मचारियों से पैसे मांग रहे हैं, हमारी मांग है कि बिना पैसा लिए सभी को पक्का किया जाए- रोहित मेहरौलिया*

इस दौरान विधायक रोहित मेहरौलिया ने कहा कि जो कर्मचारी पक्का होने की राह देख रहे थे, वो आज फिर भाजपा के भ्रष्टाचार की वजह से निराश हुए हैं। 6646 सफाई नार्थ एमसीडी में हैं, जिसमें सभी को पक्का किया जाना था, लेकिन मात्र 500 कर्मचारियों को पक्का करने का प्रस्ताव भाजपा के लोग एमसीडी की स्टैंडिंग कमेटी में लेकर आए हैं, यह बहुत ही निंदनीय है। पूरी तरह से यह चुनावी जुमाला साबित होगा। 2022 में एमसीडी का चुनाव होने वाला है, उसको ध्यान में रखते हुए वाल्मीकि समाज और सफाई कर्मचारियों का वोट लेने का यह एक तुच्छ षणयंत्र है, लेकिन आज वाल्मीकि समाज के लोग जागरूक हो चुके हैं और उनको पता है कि यह भाजपा की सिर्फ नौटंकी हैं। जिस तरह से इनका शोषण होता आया है, ये आगे भी वाल्मीकि समाज के सफाई कर्मचारियों का शोषण करते रहेंगे। इसलिए अब भाजपा के झांसे में नहीं आएंगें।

 हमारी मांग है कि सभी कर्मचारियों को पक्का किया जाना चाहिए। कर्मचारी पिछले काफी समय से यह मांग कर रहे हैं। हम समाज की नुमाइंदगी करते हैं। हमारे पास बहुत सी माताएं आकर बताती हैं कि वे छोटे-छोटे बच्चों को घर पर छोड़कर झाड़ू लेकर काम पर जाती थीं, आज वही हमारे बच्चे शादी योग्य हो चुके हैं, लेकिन अभी तक हम कच्चे पर काम कर रहे हैं। भाजपा के लिए यह बहुत ही शर्म की बात है कि अभी तक हमारे सफाई कर्मचारी कच्चे पर काम कर रहे हैं। उनको गुलामी जैसा जीवन जीने को मजबूर होना पड़ रहा है। हम मांग करते हैं कि भाजपा 500 कर्मचारियों की जगह सभी कर्मचारियों को पक्का करे। जब तक इन्हें पक्का नहीं किया जाता है, तब तक आम आदमी पार्टी के सभी विधायक, पार्षद, नेता विपक्ष समेत सभी कार्यकर्ता सड़क से लेकर सदन तक सफाई कर्मचारियों को उनका हक दिलाने के लिए मजबूती के साथ लड़ेंगे और भाजपा के सभी भ्रष्टाचार को उजागर करेंगे। 

जिन 500 कर्मचारियों को पक्का किया जा रहा है, उनमें से कई लोगों ने बताया है कि भाजपा के दलाल उनके घरों के चक्कर लगा रहे हैं और उनसे पैसे की मांग की जा रही है। कही न कहीं इसमें बहुत बड़ा भ्रष्टाचार है। हमारी मांग है कि बिना पैसा लिए उनको पक्का किया जाए और अभी तक का जितना एरियर्स बनता है, उसे दिया जाए। 

*सभी कर्मचारियों को पक्का नहीं किया जाता है, तो एमसीडी चुनाव में भाजपा का सूपड़ा साफ होगा- संतलाल चावड़िया*

सफाई कर्मचारी नेता संतलाल चावड़िया ने कहा कि पिछले 15 साल से एमसीडी में काबिज भाजपा नेतृत्व पूरी तरह से असफल हो चुका है। दिल्ली में एमसीडी कर्मचारियों की जितनी भी हड़तालें होती हैं, उसके लिए सिर्फ भाजपा नेतृत्व जिम्मेदार है। जिस तरह से अभी यह 500 कर्मचारियों को पक्का करने का लाया गया है, इसका हमारे कर्मचारी भी पूरा विरोध कर रहे हैं। हमारी मांग है कि नार्थ एमसीडी में कार्यरत सभी 6646 कर्मचारियों को पक्का किया जाएगा। अगर पक्का नहीं किया जाता है, तो आने वाले एमसीडी चुनाव में भाजपा का सूपड़ा साफ किया जाएगा। जब तक सभी को पक्का नहीं किया जाता है, तब तक सडक से लेकर सदन तक हमारा आंदोलन जारी रहेगा। 

*आम आदमी पार्टी की तरह ही भाजपा भी घोषणा पत्र में किए अपने सभी वादे पूरा करे- कुलदीप कुमार* 

विधायक कुलदीप कुमार ने कहा कि हमारे सभी कर्मचारियों को पक्का नहीं किया जाता है, तो जल्द ही आम आदमी पार्टी सफाई कर्मचारियों को पक्का कराने के लिए बड़ा आंदोलन करेगी। आम आदमी पार्टी सड़क से लेकर निगम के सदन तक लड़ाई लड़ने का काम करेगी। मैं भाजपा से कहना चाहता हूं कि आम आदमी पार्टी सभी कर्मचारियों को पक्का कराने को लेकर प्रतिबद्ध है। आम आदमी पार्टी इन्हें पक्का करा कर रहेगी। अभी भाजपा की नार्थ एमसीडी जो प्रस्ताव लाई, वह खोदा पहाड़ निकली चूहिया वाली कहावत को चरितार्थ कर रहा है। सभी कर्मचारी इस उम्मीद में बैठे हुए थे कि वे सभी लोग पक्के होंगे, लेकिन भाजपा ने चुनावी जुमला बनाकर छोड़ दिया है। भाजपा से कहना चाहता हूं कि आपके पास 5-6 महीने अभी हैं। अगर कुछ करना चाहते हैं, तो मैन्युफैस्टो का इंतजार मत कीजिए। जैसे आम आदमी पार्टी ने अपने मैन्युफेस्टो पूरा करने का काम किया है, उसी तरह भाजपा भी अपने मैन्युफेस्टो को पूरा करे।

News Reporter
पत्रकारिता के क्षेत्र में अपना करियर बनाने वाली निकिता सिंह मूल रूप से उत्तर प्रदेश के आजमगढ़ से ताल्लुक रखती हैं पिछले कुछ सालों से परिवार के साथ रांची में रह रहीं हैं और अब देश की राजधानी दिल्ली में अपनी सेवा दे रहीं हैं। नेशनल ब्रॉडकास्टिंग अकादमी से पत्रकारिता में स्नातक करने के बाद निकिता ने काफी समय तक राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली के न्यूज़ पोर्टल्स में काम किया। उन्होंने अपने कैरियर में रिपोर्टिंग से लेकर एंकरिंग के साथ-साथ वॉइस ओवर में भी तजुर्बा हासिल किया। वर्त्तमान में नमामि भारत वेब चैनल में कार्यरत हैं। बदलती देश कि राजनीती, प्रशासन और अर्थव्यवस्था में निकिता की विशेष रुचि रही है इसीलिए पत्रकारिता की शुरुआत से ही आम जन मानस को प्रभावित करने वाली खबरों पर पैनी नज़र रखती आ रही हैं। बेबाकी से लिखने के साथ-साथ खाने पीने का अच्छा शौक है। लोकतंत्र के चौथे स्तंभ में योगदान जारी है।
error: Content is protected !!