अस्थायी बांध टूटा, गाँवो घुसने लगा घाघरा नदी का पानी, दौरे पर पहुँचे मंत्री
218

उत्तर प्रदेश सरकार में मंत्री उपेंद्र तिवारी आज बाढ़ क्षेत्र का दौरा करने गोण्डा के नकाहरा गांव पहुँचे, जहां मंत्री उपेंद्र तिवारी बाढ़ प्रभावित लोंगों से मिले और उनकी समस्याएं सुनी। साथ ही मंत्री उपेंद्र तिवारी घाघरा नदी तट पर बने अस्थायी बांध का भी जायजा लिया और स्थायी बांध एल्गिन चरसडी का भी निरीक्षण किया। मिट्टी का बना अस्थायी बांध टूट चुका है और धीरे-धीरे घाघरा का पानी गांवो घुसने लगा है, आने वाली स्थिति बहुत ही भयावह होने वाली है। बांध टूटने से से लगभग 84 गांवो पर डूबने के खतरा मंडरा रहा है और लगभग एक लाख की आबादी इससे प्रभावित होगी।

बाढ़ क्षेत्र के दौरे पर मंत्री उपेंद्र तिवारी ने बाढ़ से निपटने की तैयारियों को मंत्री ने इंद्र देव पर छोड़ते हुए मीडिया से बात करते हुए कहा कि इंद्रदेव से राहत मिल जाये तो प्रशासन बाढ़ से निजात दिलाने में सक्षम है। मंत्री ने कहा कि उत्तर प्रदेश सरकार चाहती है की जनता को बाढ़ से परेशान न हो इसलिए हम यहां आए हुए है। मंत्री ने कहा हम मुस्तेदी से तैयार है अगर इंद्र भगवान खुश रहेगें तो बाढ़ से मुक्ति मिलेगी।

आपको बता दें कि ये वही बाढ़ क्षेत्र है जहां हर साल बांध टूटने से बाढ़ आती है और तबाही मचाती है। आज इस क्षेत्र को भगवान भरोसे छोड़ने वाले मंत्री उपेंद्र तिवारी कई बार बांध को लेकर यहां दौरा चुके है, यही नहीं यूपी सरकार के कई मंत्रियों ने इस क्षेत्र का दौरा पिछले एक साल में किया है। मंत्री स्वाति सिंह, मंत्री धर्मपाल सिंह यहाँ आ चुके है और ग्रमीणों से वादा किया था कि इस बार पक्का बांध सरकार द्वारा बनवा दिया जायेगा। सरकार के वादे तो पूरे नहीं हुए लेकिन एक बार फिर आने वाला बाढ़ 84 गांवों को तबाह करने के लिए तैयार है।

Leave a Reply