तोड़फोड़ पर सपा अध्यक्ष की सफाई- जो मेरा सामान था वो उखाड़ लिया
329

रवि उपाध्याय/सर्वोच्च न्यायालय द्वारा खाली कराये गये पूर्व मुख्यमंत्रियों के बंगले में पूर्व यूपी के सीएम अखिलेश यादव द्वारा की गयी बंगले में तोड़फोड़ का मामला अब काफी बड़ा हो गया है।यूपी के गवर्नर राम नाईक ने इस मामले पर सीएम योगी आदित्यनाथ से कार्रवाई करने की सिफारिश की है और जांच कराने की बात कही है।

इस पर सफाई देते हुए अखिलेश ने कहा कि वह घर मुझे मिलने वाला था इसलिए मैंने उस घर में अपने तरीके से काम कराया है।अखिलेश यादव ने सफाई देते हुए कहा कि मेरे घर में मंदिर देखकर कुछ लोगों को बहुत जलन हो रहा है और कुछ तो जलन में अंधे हो रहे है।अखिलेश ने बताया कि जब यह घर मुझे मिला था तब इस घर की हालत ठीक नहीं थी।मैंने अपने तरीके से इसमें काम करवाया था।

मेरा मंदिर दे दो मुझे

मीडिया को संबोधित करते हुए अखिलेश यादव ने कहा कि एक टोंटी की कीमत लेपटॉप से ज्यादा नहीं होती है घर में जो मंदिर था उस मंदिर को हमने बनवाया था मुझे मेरा मंदिर लौटा दो।सूबे की योगी सरकार पर हमला बोलते हुए कहा कि दो जिलाधिकारियों को संस्पेंड कर दिया है जबकि प्रदेश में आज भी बड़े पैमाने पर ओवरलोड़िग हो रही है।

राज्यपाल हुए सख्त

उत्तर प्रदेश के राज्यपाल राम नाईक ने कहा कि कानून सबके लिए बराबर है किसी को भी आम लोगों के वसूले गये टैक्स से बंगले का रखरखाव करने का कोई अधिकार नहीं है।इस मामले पर राज्यपाल ने सख्ती दिखाते हुए कहा कि बंगला खाली करने से पहले तोड़फोड़ उचित नहीं है इस पर कार्रवाई होनी चाहिए।भारतीय कानून और संविधान सबको बराबरी का अधिकार देता है।यूपी के राज्यपाल राम नाईक ने कहा कि इस पर सूबे के सीएम योगी आदित्यनाथ को विधि सम्मत कार्रवाई करनी चाहिए।

News Reporter

Leave a Reply