उलझती जा रही है एयर होस्टेस कि मौत की गुत्थी, हत्या या आत्महत्या?
643

तृप्ति रावत/ एयर होस्टेस अनीसिया बत्रा की मौत का मामला और भी उलझता जा रहा है। एयर होस्टेस अनीसिया के परिवार वालों ने आरोप लगाया है कि ये आत्महत्या नही बल्कि मर्डर का मामला है। परिवार वालों के आरोप लगाने के बाद धारा 304 बी के दहेज हत्या का केस दर्ज करते हुए मैजिस्टीरियल जांच शुरू कर दी है।

अनीसिया के शव का सोमवार को मेडिकल बोर्ड की टीम ने दोबारा पोस्टमार्टम किया। पोस्टमार्टम की वीडियोग्राफी भी कराई गई। पीड़ित परिजनों ने पुलिस पर मामले में पीड़ित के दबाव में जांच करने का आरोप लगाया है। पुलिस ने घरवालों के बयान भी दर्ज किए हैं।

दक्षिण जिला पुलिस उपायुक्त रोमिल बानिया ने बताया कि शुक्रवार को अनीसिया की मौत के बाद घटनास्थल की फोटोग्राफी और वीडियोग्राफी कराई गई। छानबीन में पता चला है कि दंपती के बीच संबंध अच्छे नहीं थे। अनीसिया और मयंक के बैंक खातों को भी सील कर दिया गया है।

फ्लैट को लेकर मिया-बीबी में होता था विवाद

वसंत विहार में फ्लैट को लेकर दोनों के बीच विवाद होता था। अनीशिया ने वसंत विहार में फ्लैट बेचा था। दंपती के बीच इसको लेकर झगड़ा होता था। पुलिस ने मयंक व उसके माता-पिता को जांच में शामिल होने के लिए कहा है। मयंक की बीएमडब्ल्यू कार, अनीशिया की हीरे की अंगूठी और मोबाइल फोन कब्जे में लिए गए हैं। सोमवार को भी फोरेंसिक टीम मौके पर पहुंची और क्राइम सीन को रीक्रिएट किया।

सोशल मीडिया पर ‘जस्टिस फॉर अनीशिया’ अभियान शुरु

अनीशिया को इंसाफ दिलाने के लिए सोशल मीडिया पर अभियान शुरू हो गया है। अनीशिया के भाई करण ने फेसबुक कम्युनिटी ग्रुप ‘जस्टिस फॉर अनीशिया’ बनाया है। इस पर कुछ ही घंटे में 1744 लोग जुड़ गए। एक ने कमेंट किया कि अनीशिया के पिता ने 40 साल तक देश की सेवा की। अब क्या उन्हें बेटी की हत्या का केस दर्ज कराने के लिए भी संघर्ष करना होगा। इस ग्रुप पर केस से संबंधित अपडेट भी पोस्ट की जा रही हैं।     

बता दें कि अनीशिया के घरवालों ने बेटी पर हो रहे अत्याचार के खिलाफ 27 जून को हौजखास थाने में शिकायत दी थी। इसमें लिखा गया था कि अगर उनकी बेटी को कुछ हुआ तो उसके लिए मयंक और उसके घरवाले जिम्मेदार होंगे। अनीशिया लुफ्थांसा एयरलाइंस में कार्यरत थीं। शुरू में पुलिस उनकी मौत को आत्महत्या बता रही थी। मामले की गुत्थी उलझती जा रही है।

News Reporter

Leave a Reply