बंद कमरे में भाजपा को उखाड़ फेंकने की गुफ्तगू, आधा घंटे तक हुई दो दिग्गजों की मुलाकात
168

रवि उपाध्याय/ राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष डॉ. रमेश दीक्षित के नेतृत्व में माकपा के महासचिव कामरेड सीताराम येचुरी से माकपा राज्य कार्यालय जाकर मुलाकात की । दोनों नेताओं के बीच लगभग 30 मिनट तक बंद कमरे में बातचीत चलती रही । इस दौरान दोनों ही दलों ने सभी धर्मनिरपेक्ष और लोकतान्त्रिक दलों से अपील की है कि वह भाजपा-संघ के सांप्रदायिक गठजोड़ को हारने के लिए व्यापक एकता बनाते हुए इस फासीवादी साम्प्रदायिक निजाम को उखाड़ फेंकना आज की जरुरत है । आज की बातचीत के दौरान माकपा महासचिव सीताराम येचुरी और रमेश दीक्षित के साथ साथ माकपा राज्य सचिव कामरेड हीरालाल यादव और पूर्व राज्य सचिव कामरेड एस. पी. कश्यप भी मौजूद रहे।

राकापा प्रदेश अध्यक्ष डॉ. रमेश दीक्षित ने आज माकपा के महासचिव सीताराम येचुरी से मुलाक़ात की । दोनों नेता लगभग आधे घंटे तक बंद कमरे में प्रदेश सियासी हालात और गठबंधन पर चर्चा करते रहे।

मुलाकात और वार्ता बाद एक बयान जारी करते हुए राकापा प्रदेश अध्यक्ष ने कहा कि गोरखपुर, फूलपुर और कैराना की हार के बाद यह तय है की भाजपा का जनाधार लगातार जन अपेक्षाओं पर खरा न उतरने के कारण सिमटता जा रहा है। उन्होंने कहा कि प्रदेश में जो भी लोकतान्त्रिक गटबंधन बनेगा उस में दोनों दल शिरकत करेंगे और उसको मजबूत करेंगे और उसमें समुचित भागेदारी भी करेंगे ताकि एंटी बीजेपी वोटों का बिखराव न हो। जारी बयान में उन्होंने कहा कि दोनों नेताओं ने उत्तर प्रदेश में भाजपा विरोधी वृहत्तर धर्मनिरपेक्ष लोकतान्त्रिक गठबंधन को मजबूत करने की बात कही।

प्रदेश अध्यक्ष डॉ. रमेश दीक्षित ने कहा कि उत्तर प्रदेश के उपचुनाव- गोरखपुर, फूलपुर, कैराना सहित बिहार के उपचुनावों में भारतीय जनता पार्टी को मिली भारी पराजय के और लोकतान्त्रिक शक्तियों की निर्णायक विजय के सन्दर्भ में उत्त्तर प्रदेश के समकालीन राजनीति पर भी चर्चा की। दोनों नेताओं ने उत्तर प्रदेश सहित देश भर में दलितों और अल्पसंख्यको पर हो रहे हमले पर भी चिंता प्रकट की ।

अपने बयान में उन्होंने कहा कि मौजूदा दौर में सभी राजनैतिक दलों की जिम्मेदारी बनती है कि वह भाजपा-संघ के गठजोड़ को परस्त करने में अपनी पूरी ताकत लगा दें । डॉ. रमेश दीक्षित ने कहा कि भाजपा को हराने के लिए सभी लोकतान्त्रिक दलों के बीच एक व्यापक एकता बने, यही आज के वक़्त की दरकार है ।डॉ. दीक्षित ने कहा कि केंद्र और प्रदेश में सत्तारुण भाजपा सरकार हर मोर्चे पर विफल रही है ।

श्री दीक्षित ने कहा कि प्रदेश में कानून नाम की कोई चीज नही है, अपराधियों को  संरक्षण मिल रहा है निर्दोष लोगो को बदमाश बताकर हत्या की जा रही है। प्रदेश में सरकार को संघ के फ्रंटल संगठन चला रहे है बजट में भी किसान व मजदूर की उपेक्षा की है तथा झूठा आश्वासन देकर गुमराह किया है। दोनों नेताओं के बीच जनता के सवालों पर साझा जनांदोलन चालने पर भी सहमती बनी।

 

News Reporter

Leave a Reply