अयोध्या में महंत धर्मदास और इकबाल अंसारी गोशाला खोलकर देंगे सांप्रदायिक सौहार्द की मिशाल
181

फैजाबाद/अयोध्या में रामजन्मभूमि और बाबरी मस्जिद मामले को लेकर अलग-अलग पक्षकार भले ही कोर्ट में लड़ाई लड़ रहे हो लेकिन बात जब इंसानियत और धर्म की हो तो अयोध्या में एक बार फिर सांप्रदायिक सौहार्द और गंगा जमुनी तहजीब की मिसाल देखने मिलने जा रही है।राम जन्मभूमि मामले के पक्षकार महंत धर्मदास और बाबरी मस्जिद के मुद्दई इकबाल अंसारी व शहर की जानी मानी समाज सेविका किन्नर गुलशन बिंदु ने गौशाला खोलने की ठान ली है।इस गौशाला के माध्यम से गोवंश की सेवा तो होगी आम जनता की परेशानियां भी दूर होंगी।इसके लिए महंत धर्मदास ने अपने बेनीगंज स्थित हनुमान मंदिर की जमीन पर गौशाला खोलने का निर्णय लिया है और उसमें सहयोग करने के लिए समाज सेविका किन्नर  गुलशन बिंदु भी सामने आयी है।

सोमवार को यह निर्णय महंत धर्मदास और इकबाल अंसारी ने लिया है और इन दोनों का सहयोग करने के लिए आगे आयी गुलशन बिंदु जो कि समाजवादी पार्टी के टिकट पर अयोध्या नगर निगम की महापौर का चुनाव लड़ चुकी है।शहर व गांव की सड़कों पर घूम रहे आवारा गोवंशों को आशियाना देने के लिहाज से अब बाबरी मस्जिद और राम जन्मभूमि मामले के पक्षकार सामने आए हैं।महंत धर्मदास, इकबाल अंसारी व किन्नर गुलशन बिंदु ने निर्णय लिया है कि महंत धर्मदास के बेनीगंज स्थित उनके हनुमान मंदिर के जमीन पर एक गौशाला का निर्माण किया जाएगा हालांकि एक छोटी सी गौशाला उस मंदिर की में पहले से ही चल रही है अब उसको विस्तार रुप दिया जाएगा ताकि आम जनता को सड़कों पर घूम रहे आवारा पशुओं यानी गोवंशों से निजात मिल सके और सबसे बड़ी बात यह है कि अपने-अपने धर्मों के धर्म स्थलों को लेकर सुप्रीम कोर्ट में लड़ाई लड़ रहे महंत धर्मदास व इकबाल अंसारी एक होकर गौशाला को खोलने की मन में ठान चुके है।

जंहा एक ओर अपने अपने अधिकारों को लेकर हिंदू मुस्लिम एक दूसरे की जान लेने के पीछे पड़े हैं तो वहीं अयोध्या में महंत धर्मदास व इकबाल अंसारी ने सांप्रदायिक सौहार्द गंगा जमुनी तहजीब की मिसाल पेश करने जा रहे हैं। जल्द ही महंत धर्मदास के बेनीगंज स्थित हनुमान मंदिर में एक गौशाला का निर्माण किया जाएगा।महंत धर्मदास, इकबाल अंसारी व गुलशन बिंदु ने अयोध्या के संतों के साथ हनुमान मंदिर के जमीन का निरीक्षण भी कर लिया है।

 

News Reporter

Leave a Reply