सोनभद्र : आकाशीय बिजली से दो की मौत तीन झुलसे
257

सोनभद्र। विंढमगंज थाना क्षेत्र के महुली ग्राम पंचायत के डोम गडाई टोले मे शुक्रवार की अर्धरात्रि में आकाशीय बिजली कहर बनकर गिरा।जिससे एक बैल तथा दो लोगो की मौक़े पर मौत हो गयी। शुक्रवार की रात क़रीब एक बजे के आस पास जब तेज गरज- चमक के साथ मूसलाधार बारिश शुरू हुई तो थाना क्षेत्र के महुली निवासीनी कौशिल्या देवी पत्नी रामदुलारे गोड उम्र 30वर्ष, अपने 12वर्षीय भांजा शिवचरन पुत्र बुधई निवासी जवारीडाड, कोटा, थाना चोपन के साथ घर के पास पीपल के पेड़ के नीचे बँधे बैलों को खोलकर घर के अंदर करने के नियत से जैसे ही बैल के पास पहुँचे ही थे कि अचानक आकाशीय बिजली के चपेट मे आ गये। जिससे कौशिल्या तथा शिवचरन व एक बैल की मौक़े पर मौत हो गयी तथा बिजली के झटके से घर के अगल- बगल कमरे में सो रहे सुकवरिया देवी, उम्र 50वर्ष,बलवंत सिंह, 24वर्ष तथा सोनू 20वर्ष झुलस गये।

मृतक के घर के अन्य सदस्य कहीं बाहर रिस्तेदारी में गये थे। जिससे घटना के तुरंत बाद किसी अनहोनी का हलचल नहीँ हो सका।उधर थाना क्षेत्र के जोरूखाड गाँव निवासिनी मालती देवी पत्नी नंदू उम्र 35वर्ष व कुसमी देवी पत्नी बिसुनधारी उम्र 40वर्ष भीआकाशीय बिजली के चपेट में आकर झुलस गये।दोनो लोग घर के अंदर सो रही थी।सभी घायलों का इलाज दुद्धी सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र में चल रहा है। सूचना पर शनिवार की अल सुबह पहुँचे थानाध्यछ विंढमगंज प्रदीप कुमार सिंह,हल्का लेखपाल तेज प्रताप ने मौक़े पर दोनो शवों को पंचनामा कर पोस्टमार्टम के लिए दुद्धी सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र भेज दिया।

काफ़ी देर बाद पहुँचे नायब तहसीलदार दुद्धी कैलाशनाथ यादव ने मृतक परिवारों को ढॉढस बँधाते हुए हर सम्भव मदद का भरोसा दिलाया। परिजनों ने बताया कि जवारीडाड निवासी मृतक शिवचरन महुली मे ही ननिहाल मे रहकर पढाई करता था। घटना के बाद पूरे कस्बे मे शोक की लहर दौड़ गयी है।सूचना पर शनिवार की अल सुबह पहुँचे थानाध्यछ विंढमगंज प्रदीप कुमार सिंह,हल्का लेखपाल तेज प्रताप ने मौक़े पर दोनो शवों को पंचनामा कर पोस्टमार्टम के लिए दुद्धी सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र भेज दिया। काफ़ी देर बाद पहुँचे नायब तहसीलदार दुद्धी कैलाशनाथ यादव ने मृतक परिवारों को ढॉढस बँधाते हुए हर सम्भव मदद का भरोसा दिलाया। परिजनों ने बताया कि जवारीडाड निवासी मृतक शिवचरन महुली मे ही ननिहाल मे रहकर पढाई करता था। घटना के बाद पूरे कस्बे मे शोक की लहर दौड़ गयी है।

Leave a Reply