जाहिल जमातियों पर सख्त हुये योगी, दिया ये आदेश

मनोज श्रीवास्तव/लखनऊ।ग़ाज़ियाबाद की घटना में कड़ी कार्रवाई के आदेश, मुख्यमंत्री  ने कहा कि इंदौर जैसी घटना यूपी में कत्तई नहीं दिखनी चाहिए, इसके लिए क़ानूनन जो भी कड़ी से कड़ी कार्रवाई करनी हो वो करिए, कहा कि गाजियाबाद में जिन लोगों ने ये हरकत की, उस प्रवृत्ति के लोगों के साथ पूरी सख़्ती करो और उन्हें क़ानून का पालन कराना सिखाओ। उन्होंने कहा कि जैसे इंसेफसलाइटिस से लड़कर जीते, वैसे ही कोरोना से लड़कर जीतेंगे। यही नहीं हमें आगे की भी चुनौती की तैयारी रखनी है, ताकी इस तरह की किसी भी आपदा से हम अपने प्रदेश के लोगों को पूरी तरह सुरक्षित रख सकें, लैब और इंफ़्रा को खूब मज़बूत रखना है। मुख्यमंत्री के निर्देश के बाद जिलाधिकारी गाजियाबाद ने बताया कि जमात के लोगो के इलाज के लिए केवल पुरुष नर्सिंग स्टाफ लगाए जाएंगे। साथ ही केवल पुरुष सिपाही ड्यूटी पर रहेंगे। ये निर्णय गाजियाबाद में जमात के लोगो की सेवा में लगी महिला नर्स लोगो द्वारा उनके दुर्व्यवहार करने की शिकायत पर लिए गए। सूत्रों का कहना है कि योगी ने चेतावनी दी है कि मेडिकल स्टाफ और पुलिस के साथ बदमाशी करने वालो पर रासुका के तहत कार्यवाही की जाएगी। माना जा रहा है कि गाजियाबाद वाली घटना को लेकर तबलीगी जमात के करोना संदिग्धों पर एनएसए लगाया जा सकता है। बता दें कि गाजियाबाद की घटना से बेहद नाराज मुख्यमंत्री ने कहा कि यह इंदौर नहीं है। ये ना क़ानून को मानेंगे, ना व्यवस्था को मानेंगे, ये मानवता के दुश्मन हैं।महिला स्वास्थ्यकर्मियों के साथ जो किया, वह जघन्य अपराध है।बता देंं कि गाजियाबाद में कोरोना संक्रमण के संदेह में आइसोलेशन में रह रहे जमातियों ने महिला स्वास्थ्य कर्मियों से अश्लील हरकत कर रहे थे।जिससे मुख्यमंत्री की नाराजगी और बढ़ गयी है। उन्होंने कहा है कि ऐसे बत्तमीजों को हम इन्हें छोड़ेंगे नहीं। उन्होंने कहा कि ऐसे पर डिजास्टर एक्ट के तहत मुकदमा दर्ज किया जाये।अगर क्वारनटाइन से कोई भागता है तो इसके लिए वहां के प्रशासन को जवाबदेह बनाएं। 

Leave a Reply