17 वर्षों बाद भ्रमण पर निकली भगवान तुंगनाथ की डोली
66
सन्तोषसिंह नेगी /पंच केदारो में तृतीय केदार के नाम से विख्यात भगवान तुगनाथ की दिवारा यात्रा का शुभारंभ 17 वर्षों बाद  शीतकालीन गद्दी स्थल मक्कूमठ से  पौराणिक परम्पराओ व रीति रिवाजों के साथ हो गया है । दिवारा यात्रा को लेकर स्थानीय व चमोली जनपद के हापला घाटी के श्रद्धालु में भारी उत्साह बना हुआ है । दिवारा यात्रा का संचालन श्री बद्रीनाथ केदार नाथ मन्दिर समिति व मक्कू गाँव के हक – हकूकधारियो के संयुक्त तत्वावधान में किया जा रहा है । दिवारा यात्रा लगभग 60 से  65 दिनों तक चलेगी ।
रविवार को भगवान तुगनाथ के शीतकालीन गद्दी स्थल मक्कूमठ में आचार्य लम्बोदर प्रसाद मैठाणी के मत्रोच्चारण पर पंच पुरोहित व मक्कू गाँव के हक – हकूकधारियो द्वारा भगवान तुगनाथ की चल विग्रह उत्सव मूर्तियों व दिवारा यात्रा में साथ चलने वाले अनेक देवी देवताओं के निशाणो की पंचांग पूजन के तहत अनेक पूजाये कर अभिषेक कर भगवान तुगनाथ की चल विग्रह उत्सव मूर्तियों को डोली में विराजमान कर भगवान तुगनाथ की डोली का विशेष श्रृगार किया गया तथा भोग लगाकर आरती उतारी गई । स्थानीय श्रद्धालुओं ने भगवान तुगनाथ को अध्य्र लगाकर दिवारा यात्रा के सुखी सम्पन्न होने की कामना की । ठीक 12 बजे दोपहर भगवान तुगनाथ की चल विग्रह उत्सव डोली व अनेक देवी देवताओं के निशाणो ने मन्दिर की तीन परिक्रमा कर दिवारा यात्रा का शुभारंभ हुआ । भगवान तुगनाथ की चल विग्रह उत्सव डोली ने मक्कू गाँव में श्रद्धालुओं को आशीष दिया तथा डोली के पावजगपुडा पहुँचने पर श्रद्धालुओं ने डोली व साथ चल रहे श्रद्धालुओं का पुष्प वर्षा कर स्वागत किया ।
दिवारा यात्रा के सौर भुतेर पहुँचने पर परम्परानुसार भूतनाथ की मूर्ति को भी मन्त्रोच्चारण के साथ डोली में विराजमान किया गया । देर सायं दिवारा यात्रा प्रथम रात्रि प्रवास के लिए क्यूजा घाटी के अखोडी गाँव पहुँच गयी है । चार दिनों तक दिवारा यात्रा क्यूजा घाटी का भ्रमण करने के बाद चमोली जनपद के हापला घाटी का भ्रमण कर श्रद्धालु को आशीष देंगी । इस मौके पर केदार नाथ विधायक मनोज रावत,  पूर्व मंत्री राजेन्द्र भण्डारी,  मुख्य कार्यधिकारी वी डी सिंह,  कार्यधिकारी एन पी जमलोकी,  दिवारा यात्रा अध्यक्ष भूपेन्द्र मैठाणी,  मठापति राम प्रसाद मैठाणी,  प्रबन्धक प्रकाश पुरोहित,  जिपस मीना पुण्डीर , प्रधान सरस्वती देवी , गायत्री देवी , यात्रा प्रभारी यदुवीर पुष्वाण,  अनिल जिरवाण,  हरि बल्लभ मैठाणी,  विजय पाल सिंह नेगी,  राजेन्द्र प्रसाद मैठाणी,  सतीश मैठाणी,  जय सिंह चौहान , खुशहाल सिंह नेगी,  शिव सिंह रावत,  गौरव कठैत , महेंद्र रावत,  लक्ष्मी देवी देवेन्द्र बर्तवाल,  हापला घाटी अध्यक्ष विजय पाल सिंह नेगी,  सन्दीप झिक्वाण , बुद्धि बल्लभ सेमवाल सहित कलसीर , नैल,  नौली  , डुगर , पाटी जखमाला , गुडम,  भणज के सैकड़ों श्रद्धालुओं मौजूद थे ।

Leave a Reply