अभिताभ और अर्चना पूरन सिंह के रिश्ते की वो सच्चाई जो आपको पता नहीं होगी!

बॉलीवुड में प्रैंक का सिलसिला तो सदियों पुराना चला आ रहा है एक्टर अजय देवगन को तो बॉलीवुड का सबसे बड़ा प्रैंकस्टर माना जाता है लेकिन इस बार अमिताभ बच्चन और अर्चना पूरन सिंह को लेकर एक मैगजीन ने अपने पाठकों के साथ अप्रैल फूल का  एक नया  प्रैंक किया था जो उल्टा पड़ गया था। दरअसल मैगजीन ने अमिताभ बच्चन और अर्चना पूरन सिंह की एक तस्वीर लगाकर खबर छापी कि दोनों एक-दूसरे को डेट कर रहे हैं ।ये तस्वीर देखते ही मीडिया पड गया था बिग बी के पीछे। ल 1992 में एक फिल्म मैग्जीन के कवर पेज पर एक फोटो छपी थी। जिसने हर तरफ सनसनी मचा दी।

साल 1992 में एक फिल्म मैग्जीन के कवर पेज पर एक फोटो छपी थी. जिसने हर तरफ सनसनी मचा दी। मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, उस तस्वीर की वजह से पत्रकार लगातार अमिताभ बच्चन  के घर फोन कर रहे थे, लेकिन अमिताभ बच्चन के घर की फोन लाइन बंद कर दी गई थीं। वजह यह थी की मैग्जीन के कवर पर छपी एक तस्वीर  पर हर कोई उस वक्त सिर्फ ये जानना चाहता था कि क्या वाकई में अमिताभ बच्चन का अर्चना पूरन सिंह  के साथ अफेयर चल रहा है? 

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, उस तस्वीर की वजह से पत्रकार लगातार अमिताभ बच्चन  के घर फोन कर रहे थे,लेकिन अमिताभ बच्चन के घर की फोन लाइन बंद कर दी गई थीं। वजह यह थी की मैग्जीन के कवर पर छपी एक तस्वीर पर हर कोई उस वक्त सिर्फ ये जानना चाहता था कि क्या वाकई में अमिताभ बच्चन का अर्चना पूरन सिंह  के साथ अफेयर चल रहा है?

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, मैग्जीन वालों ने अमिताभ और अर्चना की तस्वीर के साथ हैडिंग लिखी थी ‘अमिताभ एंड अर्चना कॉट रेड हैंडिड इन लव नेस्ट।’ यूं तो तब तक सदी के महानायक अमिताभ बच्चन का नाम कई एक्ट्रेस के साथ जुड़ चुका था लेकिन अर्चना के साथ अमिताभ बच्चन रंगे हाथों पकड़े गए, ये बात लोगों को कुछ पच नहीं पा रही थी।इस फोटो की वजह से अमिताभ बच्चन के चाहने वालों के साथ-साथ दोस्तों को भी बड़ा झटका लगा, मगर इस तस्वीर की सच्चाई कुछ और ही थी।अमिताभ ने हालांकि इस  खबर पर  एक शब्द भी नहीं बोला।

अमिताभ बच्चन  को इस बात की खबर थी कि अर्चना और उन्हें लेकर मैगजीन अपने पाठकों के साथ अप्रैल फूल के दिन प्रैंक करने वाला है। मैगजीन ने उनसे इसकी इजाजत भी ली थी। फोटोशूट में अर्चना के साथ अमिताभ नहीं, बल्कि उनके हमशक्ल थे। अमिताभ से कहा गया था  कि मैगजीन इस खबर के नीचे ये लिख देगी कि ये महज के प्रैंक था जो अप्रैल फूल पर किया गया। मैगजीन ने खबर तो छाप दी लेकिन ये बात नहीं लिखी जिस कारण से अमिताभ बच्चन और अर्चना पूरन सिंह मुश्किलों में आ गए थे।

मैसेज पाकर पीए सुबह-सुबह ही अमिताभ बच्चन के घर पहुंच गया। अमिताभ ने जल्दी आने का कारण पूछा तो उसने उनके नंबर से भेजा मैसेज दिखाया। ये देखकर अमिताभ दंग रह गए कि उन्होंने तो मैसेज भेजा ही नहीं और न ही किसी को फोन दिया। बहुत देर  बाद में अजय देवगन ने अमिताभ बच्चन  को इस प्रैंक की जानकारी दी थी।

News Reporter
पत्रकारिता के क्षेत्र में अपना करियर बनाने वाली निकिता सिंह मूल रूप से उत्तर प्रदेश के आजमगढ़ से ताल्लुक रखती हैं पिछले कुछ सालों से परिवार के साथ रांची में रह रहीं हैं और अब देश की राजधानी दिल्ली में अपनी सेवा दे रहीं हैं। नेशनल ब्रॉडकास्टिंग अकादमी से पत्रकारिता में स्नातक करने के बाद निकिता ने काफी समय तक राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली के न्यूज़ पोर्टल्स में काम किया। उन्होंने अपने कैरियर में रिपोर्टिंग से लेकर एंकरिंग के साथ-साथ वॉइस ओवर में भी तजुर्बा हासिल किया। वर्त्तमान में नमामि भारत वेब चैनल में कार्यरत हैं। बदलती देश कि राजनीती, प्रशासन और अर्थव्यवस्था में निकिता की विशेष रुचि रही है इसीलिए पत्रकारिता की शुरुआत से ही आम जन मानस को प्रभावित करने वाली खबरों पर पैनी नज़र रखती आ रही हैं। बेबाकी से लिखने के साथ-साथ खाने पीने का अच्छा शौक है। लोकतंत्र के चौथे स्तंभ में योगदान जारी है।

Leave a Reply