रचनात्मक और रोजगार परक है वैल्यू ऐडेड कोर्स डीटीपी : डॉ. नीरज करण सिंह
158

मेरठ। रचनात्मक लोगों के लिए डिजाइनिंग और डीटीपी में अपार संभावनाएं हैं, यह बातें सुभारती पत्रकारिता एवं जनसंचार संकाय में आयोजित दस दिवसीय डीटीपी (डेस्कटॉप पब्लिशिंग) पर वैल्यू ऐडेड कोर्स के उद्घाटन के दौरान महाविद्यालय के प्राचार्य डॉ. नीरज कर्ण सिंह ने कहीं।गणेश शंकर विद्यार्थी सुभारती पत्रकारिता एवं जनसंचार संस्थान में दस दिवसीय वैल्यू ऐडेड कोर्स डीटीपी का आयोजन किया गया। दस दिवसीय कोर्स में दो दिन बेसिक डीटीपी की जानकारी, चार दिन फोटोशॉप, तथा चार दिन कोरल ड्रा के बारे में बताया जाएगा।

प्रधानाचार्य ने छात्रों को बताया कि डीटीपी वैल्यू ऐडेड कोर्स पत्रकारिता, पीआर, प्रमोशन प्रोफेशनल्स के जीवन का अहम हिस्सा है। अगर आप बढ़िया लिखते हैं तो आपको उसकी डिजाइनिंग भी उसी स्तर की करनी होगी, क्योंकि कई बार पेपर की डिजाइनिंग खरीदने के लिए प्रेरित करती है। आप पीआर में हैं तो भी आपको डिजायनिंग आनी ही चाहिए। ऐसे में डीटीपी कोर्स करने के बाद आप पत्रकारिता, पीआर,  ग्राफिक डिजायनर, पेज डिजायनर बनकर अथवा अपना स्वयं का रोजगार भी शुरू कर सकते हैं। डीटीपी एक रोजगारपरक कोर्स है। वोकेशनल कोर्स में स्किल्स बहुत ही आवश्यक हैं, जो कि जीवन में व्यक्ति को व्यवहारिक बनाते हैं।

प्रोफेसर अशोक त्यागी ने कहा कि कौशल को पहचानना और कौशल को विकसित करना भी एक कौशल है। प्राचार्य जी ने बच्चों के कौशल को पहचान कर उनके डिजाइनिंग कौशल को निखारने का बीड़ा उठाया है। बच्चों की क्रिएटिविटी को यह कोर्स और भी निखारेगा।कार्यक्रम के संयोजक यासिर अराफ़ात ने बताया कि कोर्स दस दिनों तक चलेगा जिसमें कुल 25 अभ्यार्थी हिस्सा ले रहे है। इन वैल्यू एडेड कोर्स में छात्रों को डिजाइनिंग के गुर सिखाए।

कार्यक्रम में संजय जुगरान, करण सिंह, अतुल गुप्ता समेत पॉलिटेक्निक, ललितकला और पत्रकारिता विभाग के कोर्स में चयनित छात्र-छात्राएं उपस्थित रहे।

Leave a Reply