सीटें कुर्बान करके मोदी को 2019 में हराने के लिए तैयार अखिलेश
216

रवि उपाध्याय/उत्तर प्रदेश के लोकसभा और विधानसभा उपचुनावों में योगी और मोदी लहर पर कहर ढ़हाने के बाद बुआ भतीजा का मायावी गठबंधन 2019 में भी बीजेपी को परास्त करने के लिए बरकरार रहेगा।

गठबंधन के लिए बसपा सुप्रीमो मायावती का दबाव काम आने लगा है।मैनपुरी में एक सभा को संबोधित करते हुए सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव ने कहा कि वह गठबंधन के लिए तैयार है अगर उन्हें गठबंधन के लिए दो चार सीटें कम करनी पड़ी तो वह पैर पीछे नहीं हटाएंगे।

हाल ही में हुए कैराना लोकसभा उपचुनाव से पहले बसपा सुप्रीमो ने साफ तौर पर कहा था कि अगर उन्हें सम्मानजनक सीटें नहीं मिली तो उनकी पार्टी 2019 के लिए अकेली चुनाव लड़ेगी।माया के इस बयान को राजनीति के एक बड़े बयान के तौर पर देखा जा रहा था।माया का यह बयान साफ कह रहा था कि गठबंधन में सबसे ज्यादा सीटों पर बसपा का उम्मीदवार चुनाव लड़ेगा।

मैनपुरी में अखिलेश ने माया की इस जिद के सामने हथियार ड़ाल दिए है और अखिलेश यादव भाजपा को हराने के लिए गठबंधन की हर शर्त को मानने के लिए तैयार हो गये है।देखना यह दिलचस्प होगा कि माया और अखिलेश कितनी कितनी सीटों पर समझौता करते है।

आपको बता दें कि साल 2014 के लोकसभा चुनाव में सपा पार्टी ने 5 और कांग्रेस ने 2 सीट प्राप्त की थी जबकि बसपा पार्टी अपना खाता भी नहीं खोल पायी थी।हालांकि इस लोकसभा चुनाव में दोनों पार्टियों ने अलग अलग चुनाव लड़ा था।लेकिन हाल ही में हुए यूपी उपचुनावों में मायावती और अखिलेश का गठबंधन योगी और मोदी लहर पर भी कहर ढ़हाकर भारी पड़ गया।  

 

News Reporter

Leave a Reply