दक्षिण कोरियाई राष्ट्रपति मून जे-इन ने स्वामीनारायण अक्षरधाम मंदिर का किया दर्शन
469

8 जुलाई दक्षिण कोरियाई राष्ट्रपति मून जे-इन, कोरिया गणराज्य के राष्ट्रपति, और फर्स्ट लेडी, श्रीमती किम जंग-सुक, पहली बार भारत की अजेय सुंदरता का अनुभव करने के लिए नई दिल्ली में स्वामीनारायण अक्षरधाम पहुंचे। यह उनकी भारत की पहली राजकीय यात्रा है।स्वामीनारायण अक्षरधाम के आध्यात्मिक प्रमुख और BAPS स्वामीनारायण संस्थान के हेड महात्मा स्वामी महाराज,  और वरिष्ठ साधुओं और ट्रस्टियों ने परंपरागत रूप से दक्षिण कोरियाई राष्ट्रपति मून और उनके प्रतिनिधिमंडल का स्वागत किया।

स्वामीनारायण

राष्ट्रपति मून और प्रथम महिला जंग-सुक ने दुनिया के सबसे बड़े हिंदू मंदिर को देखकर मंदिर की शैली और वास्तुकला की प्रशंसा की। राष्ट्रपति मून ने फिर गजेंद्र पीठिका (हाथी प्लिंथ) का दौरा किया जिसमें 148 नक्काशीदार पत्थर से बने हाथी शामिल हैं जो सामाजिक सद्भाव, शांति और आध्यात्मिकता के संदेश को दर्शाते हैं।

स्वामीनारायण

राष्ट्रपति मून और फर्स्ट लेडी किम ने निलकांत वर्णी की पवित्र मूर्ति पर 151 पवित्र नदियों, झीलों और तालाबों से पवित्र पानी से ‘अभिषेक’ किया और विश्व शांति और सद्भाव के लिए भावनाएं साझा की।कोरिया गणराज्य के राष्ट्रपति ने अक्षरधाम में अपनी भावनाओं को साझा करते हुए लिखा कि “मैं कोरिया, भारत और दुनिया में शांति के लिए अक्षधाम में प्रार्थना करता हूं।”

Leave a Reply