शार्ट फिल्म ‘फर्क पड़ता है’ हुई रिलीज

नई दिल्ली। कन्या भ्रूण हत्या एक ऐसा अभिशाप है जो समाज को खोखला किए जा रहा है। कोख में ही लाडली की हत्या के बढ़ते मामलों पर आम जनता को बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ का संदेश देती शार्ट फिल्म फर्क पड़ता है के तहत श्री सानवीर फिल्म्स ने गुरूवार को शाम 7 बजे यू ट्यूब पर एक शार्ट फिल्म जारी की है जिसमें कन्या भ्रूण हत्या के प्रति लोगों को जागरूक करने का प्रयास किया गया है। कन्या भू्रण हत्या की विभीषिका पर लेखिका व किए्रटिव हेड शालू मिश्रा अग्रवाल ने समाज को यह मैसेज देने का प्रयास किया है कि लड़कियां बोझ नहीं हर परिवार के लिए सौभाग्य लेकर आती हैं।
श्री सानवीर फिल्म्स के बैनर तले बनी शार्ट फिल्म फर्क पड़ता है के पहले एपिसोड में कन्या भ्रूण हत्या को बखूबी ढ़ंग से पेश किया गया है। प्रोड्यूसर वीरेन्द्र ठाकुर ने बताया कि यू ट्यूब पर फर्क पड़ता है में आगे परवरिश, घरेलू हिंसा व दहेज प्रथा पर काफी रोचक सामग्री शार्ट फिल्म के जरिए पेश की जाएगी। शार्ट फिल्म में निमकी मुखिया के निर्देशक इन्द्र दास व भोजपुरी स्टार महेश राजा ने शार्ट फिल्म का निर्देशन किया है। डिजिटलाईज्ड दौर में जबकि आज हर आदमी के पास स्मार्ट मोबाइल फोन है, शार्ट फिल्म के जरिए प्रेरणा और सीख देने का प्रयास किया गया है। श्री सानवीर फिल्म्स के प्रोड्यूसर वीरेन्द्र ठाकुर ने दावा किया कि शार्ट फिल्म देखकर लोगों का स्वयंमेव कहना पड़ेगा कि फर्क पड़ता है। निजी प्रयासों से शार्ट फिल्म जारी करने की जानकारी देते हुए प्रोड्यूसर वीरेन्द्र ठाकुर कहा कि 5 से 10 मिनट की फिल्म में दर्शकों के लिए काफी कुछ होगा। उन्होंने बताया कि भावनात्मक विषयों पर कुल चार शार्ट फिल्में बनायी गयी हैं जिनमें पहली कहानी का प्रसारण गुरूवार को यू ट्यूब पर कर दिया गया है।क

Leave a Reply