साक्षी महाराज की रिकॉर्ड जीत ,तोड़ा अपना पुराना रिकॉर्ड

उन्नाव।लोकसभा  2019 के चुनावो में भाजपा के  फायरब्रांड नेता साक्षी महाराज ने उन्नाव जनपद में रिकॉर्ड मतो से जीतकर अपना ही रिकॉर्ड तोड़ दिया । उन्नाव लोकसभा सीट से बीजेपी प्रत्याशी साक्षी महाराज ने गठबन्धन प्रत्याशी अरुण शुक्ला उर्फ   अन्ना महाराज को 4 लाख 956 वोटो से हराकर शानदार जीत की, जबकि गठबन्धन प्रत्याशी अरुण शकंर उर्फ अन्ना महाराज को   302551   मत मिले। साक्षी महाराज के यह जीत इसलिए और भी यादगार बनाती है क्योंकि लोकसभा चुनावो में उन्हें टिकट के काफी संघर्ष करना पड़ा था और उनके लिए उन्नाव की लोकसभा की सीट जीतना उनके लिए  सम्मान  की बात थी। साल 2014 के लोकसभा चुनाव में विवादित बयान देकर सुर्खियों में रहने वाले बीजेपी उम्मीदवार साक्षी महाराज ने भारी जीत दर्ज की थी।
वहीं अखिलेश यादव की समाजवादी पार्टी के अरुण शंकर शुक्ला दूसरे नंबर पर रहे जबकि मायावती की बसपा तीसरे और राहुल गांधी की कांग्रेस पार्टी का उम्मीदवार चौथे नंबर पर रहा।
2014 लोकसभा चुनाव में बीजेपी प्रत्याशी साक्षी महाराज को 5 लाख 18 हजार 834 वोट मिले। वहीं समाजवादी पार्टी के अरुण शंकर शुक्ला को 2 लाख 8 हजार 661 और बहुजन समाज पार्टी के प्रत्याशी ब्रजेश पाठक को 2 लाख 176 वोट मिले।वहीं कांग्रेस की प्रत्याशी अन्नु टंडन को 1 लाख 97 हजार 98 मत मिले।
सबसे खास बात है कि सपा, बसपा और कांग्रेस उम्मीदवारों के बीच वोट का ज्यादा अंतर देखने को नहीं मिल सका।तीनों प्रत्याशियों के बीच सिर्फ कुछ हजार वोटों का मामूली अंतर देखा गया था।
वहीं वोट प्रतिशत के मामले में भारतीय जनता पार्टी के उम्मीदवार साक्षी महाराज को 43.17 फीसदी वोट मिले।वहीं सपा के शंकर शुक्ला को 17.36 प्रतिशत, बीएसपी के ब्रजेश पाठक को 16.66 और कांग्रेस पार्टी की उम्मीदवार अन्नु टंडन को 16 प्रतिशत वोट पड़े थे। लेकिन 2019 के लोकसभा चुनावो में कहानी कुछ और ही अलग निकली

आइये डालते है साक्षी महाराज के जीवन पर एक नजर-

साक्षी महाराज का जन्म 16 जनवरी 1956 को उत्तर प्रदेश स्थित कासगंज जिले में हुआ था। उनके पिता का नाम आत्मानंद जी महाराज और माता का नाम मदालशा देवी था। साक्षी महाराज लोध समुदाय से आते हैं। ये समुदाय उत्तर प्रदेश में अति पिछड़े वर्ग के अन्तर्गत आता है।
साक्षी महाराज ने अपने राजनीतिक कैरियर की शुरुआत 1990 में बीजेपी के साथ की थी। इससे पहले वह मुलायम सिंह यादव की समाजवादी पार्टी से जुड़े। वही उन्होंने कल्याण सिंह की पार्टी राष्ट्रीय क्रांति दल भी ज्वाइन की थी। साल 1991 में वह मथुरा लोकसभा क्षेत्र से पहली बार सांसद चुने गए। इसके बाद वह 1996 से 1998 से फर्रुखाबाद से सांसद चुने गए। ये क्षेत्र लोध समुदाय का गढ़ माना जाता है। साक्षी महाराज रामजन्मभूमि आंदोलन में प्रमुख रूप से शामिल थे और उन्हें बाबरी मस्जिद केस में आरोपी भी बनाया गया था।
साक्षी महाराज का नाम 1997 में भी उस समय सुर्खियां बटोर रहा था जब वे फर्रुखाबाद से सासंद थे और बीजेपी नेता ब्रह्मदत्त द्विवेदी की हत्या के मामले में भी उनके नाम पर शिकायत दर्ज कराई गई थी। महाराज का नाम हत्या के इस मामले की जांच के दौरान आया था लेकिन बाद में सुबूतों के अभाव में उन्हें क्लीनचिट दे दी गई।
वर्ष 1999 में हुए लोकसभा चुनाव में साक्षी महाराज ने बीजेपी का दामन छोड़ते हुए समाजवादी पार्टी के टिकट पर फर्रुखाबाद से चुनाव में खड़े हुए थे। इसी सीट से बीजेपी की ओर से टिकट न दिए जाने पर साक्षी महाराज बीजेपी से नाराज हो गए थे। वर्ष 2000 में समाजवादी पार्टी की ओर से उन्हें राज्यसभा के लिए भेजा गया।
वर्ष 2005 में साक्षी महाराज को संसदीय फंड का दुरुपयोग करने के मामले में एक स्टिंग आपरेशन के तहत पकड़ा गया। साल 2012 में साक्षी महाराज फिर से बीजेपी में शामिल हो गए।
साल 2014 के लोकसभा चुनाव में साक्षी महाराज को बीजेपी की ओर से उन्नाव लोकसभा सीट से टिकट दिया गया। जिसमें उन्होंने भारी मतों से कांग्रेस उम्मीदवार अन्नू टंडन को हराया।
बीजेपी से साक्षी महाराज 703507 वोट ,कांग्रेस प्रत्याशी अन्नू टण्डन 185634 वोट  , समाजवादी पार्टी से  अन्ना महाराज 302551 वोट , नगर एकता पार्टी से उमर खान को  11123 वोट ,भारत प्रभात पार्टी से छेदी लाल को 3090 वोट, जनहित मिशन पार्टी से  दीपक चौरसिया को 5715 वोट, आजाद भारत पार्टी से शैलेन्द्र कुशवाहा  3550 वोट , प्रगतिशील समाजवादी पार्टी से सतीश कुमार शुक्ला को 6711 वोट,  निर्दलीय  प्रत्याशी सत्येन्द्र नाथ  को 4005 वोट और 11189 वोट नोटा में गया। जनपद में कुल 1237076 वोट पड़ें।
गंगाघाट नगर पालिका क्षेत्र के अंतर्गत चेयरमैन के कैम्प कार्यालय में भाजपाईयों ने उन्नाव से एक बार फिर भाजपा सांसद साक्षी महाराज की जीत पर पटाखा फोड़ बाटें लड्डू व मनाया जीत का जश्न। इस दौरान चेयरमैन रंजना गुप्ता, चेयरमैन प्रतिनिधि राजेश गोल्डी गुप्ता, अंकुर शुक्ला, केडी त्रिवेदी, आशीष त्रिपाठी, छोटू यादव, विजय पासी, पिंटू श्रीवास्तव, बब्बन सिंह, अशोक पांडेय, पप्पू चौहान, मिंटू, कमला शंकर निषाद व भाजपाई कार्यकताओ की भारी संख्या में भीड़ मौजूद रही।

Leave a Reply