बांग्लादेश की रूक्साना पुलिस के साथ पहुंची पति के घर
97

उपेन्द्र तिवारी /कुशीनगर। बांग्लादेशी युवती रूक्साना को प्यार और शादी इतना महंगा पड़ गया की पति को ढूढ़ने के लिए दर दर भटक रही है। पांच दिनों तक हाटा कोतवाली में इंतजार करने के बाद बुधवार को वह महिला पुलिस के साथ अपने प्रेमी के घर डूमरी सवांगी पट्टी पहुंची। जहां प्रेमी बृजेश गुप्ता घर से फरार मिला वही उसकी मां को छोड़ अन्य परिजन भी नहीं दिखे। हाटा कोतवाली के गांव डूमरी सवांगी पट्टी निवासी सुकदेव गुप्ता का पुत्र बृजेश दो वर्ष पूर्व जार्डेन में पलंबर मिस्त्री का काम करने पहुंचा तो वहां कंपनी में उससे ऊंचे पद पर काम कर रही बांग्लादेशी महिला से नजदीकियां बढ़ गईं।

बीते तीन माह पूर्व रूक्साना जब भारत आई तो सभी को इनके रिश्ते की जानकारी हुई।रूक्साना के अनुसार बृजेश ने उससे कोलकत्ता के एक मंदिर में हिंदू रीति रिवाज के साथ सात फेरे लिए थे। बीते 29 मार्च को हाटा कोतवाली पहुंची और उसके पति की दस्तावेज दिखाते हुए उसे ढूंढने की गुहार लगाई। पुलिस ने पांच दिनों तक हाटा कोतवाली में बैठाए रखा। जब बृजेश नहीं आया तो बुधवार को रूकसाना को लेकर उसके प्रेमी के घर पुलिस पहुंची। जहां रुखसाना खाना पीना छोड़ कर उसके घर बैठी मिली। वही उसे देखने के लिए काफी संख्या में लोग जुटे रहे। इस संबंध में कोतवाली प्रभारी कमलेश सिंह ने कहा कि मामले का हल कराने का प्रयास किया जा रहा है।

Leave a Reply