प्रणव मुख़र्जी के इस तस्वीर के वायरल होने के बाद शर्मिष्ठा ने कहा, जिसका डर था वही हुआ
291

पूर्व राष्ट्रपति प्रणव मुखर्जी का आरएसएस के प्रोग्राम में जाना जहाँ पहले से ही सुर्खि़यों में आ रहा था वहीं अब प्रणव दा के भाषण के कुछ ही घंटे बाद सोशल मीडिया पर उनकी  एक तस्वीर जो संघ नेताओं की तरह सैल्यूट करती दिख रही है वो चर्चा बन गई है। हलांकि यह तस्वार पूरी तरह से फ़र्जी है। क्योंकि कार्यक्रम के दौरान इस तरह का पोज प्रणब मुख़र्जी ने नही दिया था। प्रणव मुख़र्जी की बेटी और कांग्रेस नेता शर्मिष्ठा ने इस बात को लेकर भाजपा को घेरा है। उन्होंने बताया की यह करतूत भाजपाईयों की है। शर्मिष्ठा ने कहा कि मुझे जिसका डर था और जिसके लिए मैंने अपने पिता को चेताया था, वही हो रहा है। अभी कुछ घंटे भी नहीं बीते हैं और भाजपा-संघ के डर्टी ट्रिक्स विभाग ने जोर-शोर से काम शुरू कर दिया है।

शर्मिष्ठा ने कहा कि संघ का न्योता स्वीकार कर मेरे पिता ने भाजपा और संघ को झूठी कहानियां गढ़ने का मौका दे दिया है। इससे पहले नागपुर स्थित राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ मुख्यालय में पूर्व राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी के संबोधन से पहले उनकी बेटी ने अपने पिता के इस कार्यक्रम में शामिल होने के फैसले को अनुचित ठहराया था। शर्मिष्ठा ने कहा कि संघ मुख्यालय में उनका संबोधन भुला दिया जाएगा लेकिन इससे जुड़ीं तस्वीरें बनी रहेंगी। जो झूठ को फैलाती रहेंगी।

इससे पहले यह भी ख़बर फैली थी कि प्रणव मुख़र्जी के वहाँ जाने की वजह ये थी कि वो चाहते हैं कि शर्मिष्ठा 2019 के लोकसभा चुनाव में पश्चिम बंगाल के मालदा से भाजपा के टिकट पर चुनाव लड़ें। लेकिन शर्मिष्ठा ने भाजपा में शामिल होने की अफवाहों को गलत बताते हुए कहा कि वह भाजपा में शामिल होने के बजाय राजनीति से संन्यास लेना पसंद करेंगी। शर्मिष्ठा ने ट्वीट कर कहा था कि पूर्व राष्ट्रपति जल्द ही समझ जाएंगे कि भाजपा की गंदी चालबाजी कैसे काम करती है। संघ कभी नहीं मानेगा कि अपने (प्रणब के) भाषण में आप इसके विचारों की सराहना कर रहे हैं।

कांग्रेस छोड़ने की अफवाह को बकवास बताते हुए शर्मिष्ठा ने ट्वीट किया है, ‘पहाड़ों में खूबसूरत सूर्यास्त का आनंद लेने के बीच भाजपा में मेरे शामिल होने की अटकलें मेरे लिए ‘टॉरपिडो’ की तरह हैं। इस दुनिया में कहीं भी सुकून और शांति नहीं मिल सकती है क्या?’

Leave a Reply