प्रधानमंत्री मुद्रा लोन के तहत लोगों को मिले 103 करोड़ 95 लाख 18 हजार रुपये-मनोज तिवारी
26

नई दिल्ली, 03 जनवरी।  भारतीय जनता पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष एवं उत्तर पूर्वी दिल्ली के सांसद श्री मनोज तिवारी ने कहा की आजादी के बाद वर्षों युवा रोजगार के लिए भटकते रहे सरकारी योजनाएं सिर्फ कागजों में बनती रही। अगर कुछ लोगों को लाभ मिला भी तो रोजगार की योजनाएं सही हकदार तक नहीं पहुंची। लेकिन चुनाव से पहले जो संकल्प श्री नरेंद्र मोदी ने लिया था। उन्होंने प्रधानमंत्री बनने के बाद उसका अक्षर से पालन किया। केंद्र सरकार ने हर योजना को ईमानदारी से जन-जन तक पहुंचाया। उसकी बानगी उत्तर पूर्वी दिल्ली संसदीय क्षेत्र के मुद्रा लोन के आंकड़े पेश कर रहे हैं जहां लगभग 15000 लोगों को 100 करोड़ से अधिक मुद्रा लोन विभिन्न बैंकों द्वारा दिया गया।

मनोज तिवारी ने कहा कि पंडित दीनदयाल उपाध्याय के सिद्धांत पर बनी भारतीय जनता पार्टी समाज के हर वर्ग को साथ लेकर उनके सामाजिक, राजनीतिक, आर्थिक और बौद्धिक विकास के लिए काम कर रही है। आजादी के बाद एक बड़े अंतराल तक विभिन्न राजनीतिक पार्टियों ने शासन करने के लिए सत्ता का उपयोग किया। 1947 में बेशक देश अंग्रेजों से आजाद हुआ लेकिन बेरोजगारी, भुखमरी, भ्रष्टाचार की गुलामी का दंश देश के करोड़ों लोग झेलते रहे। जब देश में प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में सरकार बनी तो देश में हर वर्ग की विकास में हिस्सेदारी और साझेदारी तय हुई। उन्होंने कहा कि यह पहला मौका है जब देश के करोड़ों युवाओं को रोजगार के लिए प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी के आदेश पर देश के सभी बैंकों ने अपने खजाने के दरवाजे खोल दिए। हर जरूरतमंद को जरूरत है बैंक तक पहुंचने और अपने आप को स्वरोजगार के लिए प्रेरित करने की। विभिन्न बैंकों द्वारा  पेश रिपोर्ट के अनुसार प्रधानमंत्री मुद्रा लोन योजना के तहत 30 सितंबर 2018 तक विभिन्न बैंकों द्वारा दिया गया लोन इस प्रकार हैं शिशु लोन के तहत 12767 लोगों को 24 करोड 73 लाख 34 हजार,किशोर लोन के तहत 1275 लोगों को 35 करोड़ 29 लाख 19 हजार,तरुण लोन के तहत 670 लोगों को 52 करोड़ 44 लाख 93 हजार,टोटल 14712 लोगो को 103 करोड़ 95 लाख 18 हजार रूपयों का लोन उत्तर पूर्वी दिल्ली जिले में प्रधानमंत्री मुद्रा लोन योजना के तहत दिया गया।

Leave a Reply