लहरपुर-बिना घूस दिए यहां नहीं मिलता प्रधानमंत्री आवास, पात्र लगा रहे अधिकारियों के चक्कर
  • सुधांशु पुरी/ मोहम्मद रफी ।फांक रहा सड़कों की धूल, पैसा ना दो तो नगर पालिका लहरपुर कहती है डूडा जाओ, डूडा कहता है नगरपालिका!

सीतापुर। केंद्र और प्रदेश की सरकार भले ही गरीब मजदूरों को न्याय दिलाने उनको लाभ पहुंचाने के लिए तरह-तरह की योजनाओं को संचालित कर दे लेकिन सीतापुर के अधिकारियों कर्मचारी उन तमाम योजनाओं पर पलीता लगा रहे हैं ।
मामला सीतापुर की नगरपालिका लहरपुर का है जहां नगर पालिका कहती है कि पीड़ित शिकायतकर्ता का कार्य डूडा विभाग से होगा और जब लाभार्थी डूडा विभाग आता है तो विभाग कहता है आपका कार्य नगर पालिका से होगा। और पीड़ित 3 साल से धूल फांक रहा है।यह हम नहीं कह रहे यह दोनों विभाग की रिपोर्ट में सामने आया है।


मामला सीतापुर की लहरपुर नगर पालिका का है ।
जहां काजी टोला निवासी इसरत जहां जो काजी टोला में अपने कच्चे मकान पर और छप्पर के नीचे रहने को मजबूर है उसे बीते 3 वर्षों से यह दो विभाग चक्कर लगवा रहे हैं ।
मामला प्रधानमंत्री शहरी आवास योजना का है इसरत जहां द्वारा वर्ष 2016 में प्रधानमंत्री शहरी आवास योजना में आवास बनाने के लिए ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन करवाया था लेकिन पीड़ित महिला पैसे ना दे सकी तो उसका नाम लिस्ट से हटा दिया गया और तब से वह नगर पालिका लहरपुर और डूडा विभाग सीतापुर की वंदना कर रही है कि उसे लाभ मिल जाए वहीं जब उपरोक्त महिला द्वारा जनसुनवाई के माध्यम से अपनी शिकायत दर्ज कराई तो नगरपालिका लहरपुर का कहना है की कार्य डूडा विभाग से होगा और डूडा विभाग के परियोजना निदेशक का कहना है कि कार्य नगर पालिका लहरपुर से।

नगर पालिका लहरपुर जो देगा पैसा उसी को मिलेगा शहरी आवास योजना में लाभ

नगरपालिका लहरपुर की कार्यशैली, प्रधानमंत्री शहरी आवास योजना के विकास में बड़ी बाधा बन रही है यहां उन्हीं लाभार्थियों को लाभ दिया जा रहा है जो नगरपालिका के कर्मचारि को पैसा दे सके पिछले दिनों लहरपुर नगर पालिका क्षेत्र में करीब 85 लोगों को अपात्र घोषित किया गया था जिसमें एक महिला शिव प्यारी द्वारा नगर पालिका के कर्मचारी अफसर अली और एक दलाल पर 420 का मुकदमा दर्ज कराया गया और बाद में डूडा विभाग की जांच में वह महिला मौके पर पात्र पाई गई लेकिन अभी तक उसको प्रधानमंत्री शहरी आवास योजना का लाभ नहीं दिया गया क्योंकि डूडा विभाग द्वारा यह कहा गया है कि नगरपालिका लहरपुर उपरोक्त महिला शिव प्यारी की रिपोर्ट नहीं भेज रही है जिसकी वजह से उसको लाभ नहीं मिल पा रहा है ।
वहीं शेष उपरोक्त लिस्ट में कुछ लोग ऐसे हैं जो मौके पर पात्र हैं लेकिन लिस्ट में अपात्र घोषित कर दिए गए ।

Leave a Reply