मंत्री के सामने ही कोटेदारों ने बताया वो कैसे करते हैं खाद्यान्न घोटाला, घोटाला करना उनकी मजबूरी
233

सत्ता बदल जाये या सत्ताधारी बदल जाये अगर कुछ नहीं बदलता तो वो है भ्रस्टाचार और भ्रष्टाचारियों की नीयत। ऐसा ही कुछ दिखा गोंडा में जहाँ मंत्री और अधिकारियों के बीच भरी महफ़िल में भ्रष्ट कोटेदारों ने खाद्यान वितरण में किस तरह सरकार व जनता को चूना लगाते हैं यह कबूल किया। इसी कार्यक्रम में ग्रमीणों ने बिजली विभाग में व्याप्त भ्रस्टाचार की भी शिकायत की। शिकायत सुन मंत्री ने मंच से जे.ई. को नौकरी करनी है या नहीं कि धमकी दे डाली। प्रदेश सरकार में सहकारिता मंत्री उपेंद्र तिवारी ने गोंडा के डिबरीकला गांव में ग्रामीणों की समस्याओं को सुनने व सरकार द्वारा चलाई जा रही योजनाओं को बताने के लिए रात्रि चौपाल कार्यक्रम लगाया था।

खाद्यान्न वितरण में होने वाले भ्रस्टाचार की कोटेदारों ने मंत्री के सामने पोल खोल दी, मंत्री के सामने कोटेदारों ने खाद्यान में होने वाले गोलमाल का सच कबूल किया। प्रदेश सरकार के सहकारिता मंत्री उपेंद्र तिवारी के सामने कोटेदारों ने माना वो कार्ड धारकों को पूरा राशन नहीं देते हैं। राशन की वितरण में हेरफेर करते हैं। कोटेदारों ने मंत्री उपेंद्र के सामने बताया कि उन्हें गोदाम से अनाज की 50 किलो बोरी बजाय 40-45 किलो की बोरी ही मिलती है। जिसको लाने में भाड़ा, मजदूरी व पलोदारी में पैसा खर्च होता है। जिसकी भरपाई वो लोंगों के राशन की कटौती कर पूरा करते हैं। यही नही कोटेदारों ने ये भी मंत्री के सामने कबूल किया वो राशनकार्ड में भी घपलेबाजी कर सरकारी अनाज की कालाबाजारी करते हैं। मंत्री से जब इस पर सवाल किया गया तो मंत्री ने कहा खामियां पाई गई तो कार्यवाही होगी व भ्रस्टाचार व लूटपाट करेंगे तो कोटेदार जेल जायेगे।  गौरतलब है गोण्डा में हाल ही में 9000 सरकारी साद्यान्न से भरी बोरियाँ पकडी गईं थी जिसके बात जाँच हुई और इसकी गा़ज गोण्डा के तत्कालीन डीएम पर पडी जिन्हें योगी सरकार ने सस्पेंड कर दिया था।

इसी कार्यक्रम में बिजली की समस्या से जूझ रहे ग्रामीणों ने मंत्री से जेई की शिकायत की, ग्रमीणों ने बताया बिजली विभाग द्वारा गांव में बिजली का कनेक्शन नही किया उससे पहले भ्रष्ट कर्मचारियों ने ग्रमीणों से 500-500 रुपये लेकर मीटर लगा दिया, जिसकी शिकायत ले कर ग्रमीण मंत्री और अधिकारीयों के सामने बिजली का मीटर लेकर पहुँच गए। मंत्री उपेंद्र तिवारी जेई की शिकायत सुन भड़क गए और मंच से जेई को सुधरने की नसीहत देते हुए जेई को नौकरी करनी है कि नहीं करनी की धमकी दे डाली। मंत्री ने धमकी के सवाल पर कहा कि अगर इनकी गतिविधियां नही बदलेगी, तो नोटिस के साथ कार्यवाही की जायेगी। कार्यक्रम में गोण्डा सांसद भी मौजूद थे।

Leave a Reply