एक्सप्रेस-वे पर अखिलेश ने की घायलों की मदद, अपने गाड़ी से भेजा अस्पताल
203

तृप्ति रावत/ लखनऊ-आगरा एक्सप्रेस-वे पर हुए एक हादसे को देख अखिलेश यादव अपना काफिला रोक उतर पड़े। हादसे में इस्कॉन के तीन भक्त बुरी तरीके से घायल थे। ये दुर्घटना देखते ही अखिलेश यादव ने अपने काफिले की एक गाड़ी से घायलों को तुरंत अस्पताल पहुंचाया।

हालांकि बाद में अखिलेश यादव नें ट्वीटर पर ट्वीट करते हुए कहा कि ‘एक्सप्रेसवे पर एक जानवर को बचाते-बचाते हुए ऐक्सिडेंट में हमने ISKON भक्तों की हर सम्भव मदद की। महामार्गों को आवारा पशुओं से मुक्त रखने के लिए उचित प्रबंध होने चाहिए।’ अखिलेश की ये तस्वीरें अब तक कई बार रीट्वीट की जा चुकी हैं। लोग अखिलेश यादव की जमकर तारीफ कर रहे हैं।

अखिलेश यादव ने बताया कि उन्नाव के हसनगंज के पास जिस वक्त हादसा देखा उस वक्त गाड़ी बीच सड़क पर पलटी हुई थी। और लोग खून से लतपत थे। अखिलेश ने अपने काफिले की एक गाड़ी से गंभीर रूप से घायल दो लोगों को लखनऊ ट्रामा सेंटर भेजा। जबकि एक घायल का इलाज हसनगंज कम्यूनिटी सेंटर में किया जा रहा है।

बता दें कि मंगलवार सुबह करीब 11 बजे लखनऊ से मथुरा जा रहे लखनऊ निवासी साधु आनंदेश्वर दास, प्रभाकर दास और मीरा माधव की कार एक्सप्रेस वे पर हसनगंज कोतवाली के ताला सरांय गांव के सामने अनियंत्रित होकर पलट गई। हादसे में तीनों साधु और उनका चालक घायल हो गया।

लखनऊ से आगरा जा रहे पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव की दुर्घटनाग्रस्त कार पर नजर पड़ी तो अपनी गाड़ी रोक दी। उनके रुकते ही फ्लीट और काफिले में शामिल समर्थक भी रुक गए। पूर्व मुख्यमंत्री ने समर्थकों की मदद से घायलों को किनारे कराया। उनका हालचाल लेने के बाद फ्लीट में शामिल अपनी एक कार को खाली कराया और घायल साधुओं को आनन-फानन में लखनऊ ट्रामा सेंटर भिजवाया। इस दौरान तमाम ग्रामीणों की भीड़ लग गई।

इस दौरान मौके पर मौजूद रहे पिछवाड़ा गांव के प्रधान प्रेम कुमार ने बताया कि पूर्व मुख्यमंत्री के सेवा भाव को ग्रामीणों ने खूब सराहा। घायलों को अस्पताल भिजवाने के बाद पूर्व मुख्यमंत्री ने हाथ जोड़कर तो कभी हाथ हिलाकर ग्रामीणों का अभिवादन किया। इसके बाद आगरा के लिए रवाना हो गए।

हसनगंज कोतवाली प्रभारी धर्मवीर सिंह ने बताया कि सोशल मीडिया के जरिये जानकारी हुई है। हादसे की कोई सूचना थाने में नहीं दी गई है। सभी घायलों के सीधे लखनऊ चले जाने से यहां जानकारी नहीं हो पाई। घायलों को सीएचसी लाया जाता तो जरूर जानकारी हो जाती।

News Reporter

Leave a Reply