नेशनल रिकॉर्ड जीत कर शामली के बेटे ने शहर का नाम किया रौशन

“मंजिल उन्ही को मिलती हैं जिनके सपनो में जान होती है,पंखों से कुछ नही होता हौंसलो से उड़ान होती है” कवि के ये लाइन शामली के रितिक मलिक ने साकार कर दिखाया है।

जनपद शामली के रहने वाले रितिक ने न सिर्फ एथलीट में 100 मीटर की दौड़ में पुराने रेकॉर्ड को तोड़ा है बल्कि नेशनल रिकॉर्ड को अपने नाम कर शामली जिले का नाम रोशन किया है। जिसके चलते सोमवार को गांव पहुंचे युवा धावक का पैतृक गांव पहुंचने पर ग्राम वासियों ने बहुत ही जोरदार स्वागत किया। उसे खुली गाड़ी में बैठा कर पूरे गांव में घुमाया जहां पर पूरे गांव में जगह-जगह उसका माला पहनाकर स्वागत किया गया तो वही आशीर्वाद स्वरुप पैसे भी दिए गए।

दरअसल, कुडाना गांव के रहने वाले रितिक मलिक ने जूनियर नेशनल चैंपियनशिप 2021 में 100 मीटर की दौड़ में गोल्ड मेडल हासिल किया है, तो वही 200 मीटर की दौड़ में सिल्वर मेडल हासिल किया है।

आपको बता दें कि रितिक अभी 19 साल के हैं और वह दिल्ली यूनिवर्सिटी के किरोड़ीमल कॉलेज से बी.ए. फर्स्ट ईयर के छात्र हैं। रितिक ने 2016 में एथलीट्स शुरू किया था। उससे पहले रितिक हॉकी खेला करते थे।

रितिक की बड़ी बहन दिव्या 23 साल की है जो कि एक प्राइवेट कंपनी में जॉब करती है और वह भी क्रिकेट की बहुत अच्छी खिलाड़ी रह चुकी हैं। लेकिन उन्होंने अपने भाई रितिक के लिए अपने क्रिकेट मोह को त्याग दिया क्योंकि वह अपने भाई को आगे बढ़ाना चाहती हैं। बहन ने बताया कि उनके पिता किसान परिवार से आते हैं इसलिए वह दोनों को स्पोर्ट्स सिखाने के लिए होने वाले खर्चे को वहन नहीं कर सकते थे, इसलिए मैंने भाई के लिए अपने क्रिकेट मोह को त्याग दिया और प्राइवेट कंपनी में जॉब करने लगी।

Leave a Reply