1जून को खुलेंगे हेमकुंट साहिब के कपाट सिखों के सबसे पवित्र स्थानों में एक
50

संतोषसिंह नेगी / सिखों के पवित्र हेमकुंट साहिब तीर्थ स्थल  के कपाट  1जून  को आम यात्रियों के लिए खोल दिये जाइगे हिम झील के साथ 4632मीटर की ऊंचाई पर स्थित है। हेमकुंड साहिब चमोली जिले में सिखों का पवित्र  स्थल है।चमोली के हिमालय में स्थित गुरुद्वारा हेमकुंट साहिब सिखों के सबसे पवित्र स्थानों में एक माना जाता है सिखों के दसवें गुरू श्री गुरू गोविन्दसिंह ने पूर्व जन्म में ध्यान साधना की थी उसके बाद उनका जन्म हुआ था हेमकुंट साहिब का गुरू गोविन्दसिंह की आत्मकथा में उल्लेख किया गया है । यह जगह सिखों के दसवें गुरू गोविन्दसिंह ने हेमकुंड  साहिब का जिक्र दशम ग्रंथ में गुरु गोविंद सिंह में किया था।तीर्थ यात्रा 19 किलोमीटर की चढ़ाई चढ़कर हेमकुंट साहिब में मत्था टेकने पहुंचते है बद्रीनाथ हाईवे पर स्थित गोविंदघाट हेमकुंड साहिब का प्रवेश द्वार माना जाता है इस दर्शनीय तीर्थ में चारों ओर बर्फ की ऊची चोटियों का प्रतिबिम्ब विशालकाय झील में अत्यंत मनोहर लगता है।

कपाट खुलने से पुलना- भ्यूंडार घाटी में 6 माह से जो सन्नाटा था 1जून से  यात्रा की शुरूआत से  टूट  जायेगा और श्रद्धालुओं की भारी भीड़ देखने को मिलेगी जिससे स्थानीय लोगों को रोजगार के अवसर भी मिलेंगे स्थानीय लोगों मे इस यात्रा   को लेकर  खुशी की लहर है कि इस समय यात्रा अच्छी चलेगी  इस स्थान की खोज  1932 मे पंडित तारा सिंह नरोत्तम द्वारा हेमकुंड धाम की खोज की गयी थी। जिसके बाद 1933 से हेमकुंड यात्रा शुरू हुईं थी।

वही जिलाधिकारी स्वाति एस भदौरिया ने भी हेमकुण्ड की सुरक्षित व सुगम यात्रा के लिए यात्रामार्ग पर सभी व्यवस्थाओं को निर्धारित समय से पूरा करने के निर्देश विभागों को दिए। पुलिस विभाग को शांति व सुरक्षा व्यवस्था के लिए गोविन्द घाट, पुलना, भ्यूडांर, घघरिया एवं हेमकुण्ड में पर्याप्त संख्या में पुलिस बल एवं एसडीआरएफ तैनात रखने के निर्देश दिए। कहा कि हेमुकण्ड में संचार सुविधा के लिए पुलिस को सेटलाइट फोन भी उपलब्ध कराया जाएगा। विद्युत एवं पेयजल विभाग को यात्रा पढाव व यात्रा मार्ग में विद्युत एवं पेयजल व्यवस्था को सुचारू करने के निर्देश दिए। कहा कि यात्रामार्ग में पेयजल लाईनों को दुरूस्त कर सभी स्टैण्ड पोस्ट में पेयजल आपूर्ति सुचारू रखने हेतु आवश्यकतानुसार फीटरोें की तैनाती भी सुनिश्चित की जाय। सुलभ को शौचालय की मरम्मत कार्य शीघ्र पूरा करते हुए शौचालयों को चालू करने, घांघरिया व हेमुकण्ड के पैदल मार्ग पर अस्थाई शौचालय स्थापित करने के साथ-साथ शौचालयों में पानी की पर्याप्त व्यवस्था व सफाई कार्मिकों की तैनाती करने के निर्देश दिए। चिकित्सा सुविधा हेतु गोविन्द घाट व पुलना में मेडिकल रलीफ पोस्ट संचालित करने एवं पर्याप्त संख्या में डाॅक्टरों एवं दवाईयों का स्टाॅक रखने के निर्देश स्वास्थ्य विभाग को दिये। गुरूद्वारा प्रबन्धन समिति, पर्यटन तथा जीएमवीएन को जोशीमठ, गोविन्द घाट गुरूद्वारा सहित घांघरिया में पर्याप्त आवासीय व्यवस्था सुनिश्चित करने के निर्देश दिए ।

Leave a Reply