आसमान से गिरे आफत के ओले, लाखों की फसल बरबाद
123

बस्ती। देर रात जनपद के विभिन्न स्थानों पर बारिश और ओलावृष्टि के साथ चलीं तेज हवाओं से गेहूं की खड़ी फसलों को भारी नुकसान हुआ और नगदी फसल टमाटर के ऊपर गिर रही एक एक बूंद बारिश से मानों किसानों के अरमान धुल रहे थे। तेज हवाओं के झोकों से गेहूं की फसलें खेत में गिर गयीं।टमाटर के पौधों पर गिर रहे ओले फल को डालियों को यैसे तोड रहे थे जैसे कोई पटाखे फोड रहा हो।अप्रैल के पहले हफ्ते में मौसम ने कई रंग दिखाए। सुबह के समय मौसम लगभग सामान्य रहा वहीं दोपहर में तापमान में बृद्धि हुई जिससे जनजीवन को गर्मी ने बेहाल किया। इससे ठीक उलट शाम के समय हल्की हवा चलनी शुरू हुई और गर्मी से कुछ राहत मिली। मौसम में परिवर्तन शाम से ही दिखने लगा था जो रात लगभग 9 बजे के आस पास हल्की बरसात के साथ ओलावृष्टि और बारिश में परिवर्तित हो गयी और हल्की हल्की ठंड महसूस होने लगी। मौसम विभाग ने पहले ही चेतावनी जारी कर दी थी कि 5 तारीख से 8 तारीख के बीच मौसम खराब होने की संभावना है।

सुबह तेज धूप खिली रही लेकिन दोपहर बाद मौसम में अचानक परिवर्तन हुआ और हल्की हवा चलने लगी। रात के 9 बजे के करीब बर्फबारी होने से मौसम में ठंडक ला दी। जनपद की विभिन्न स्थानों पर बारिश और ओलावृष्टि से रबी की फसलों को भारी नुकसान पहुँचा है। बेमौसम बारिश और बर्फबारी से गेहूं और सरसों की फसल सबसे जादा प्रभावित हुई है। तेज हवा से गेहूं की खड़ी फसल गिर गयी है। कुछ दे बाद बारिश और ओले गिरने बंद हो गये, लेकिन रात 11 बजे अचानक फिर ओलों की वर्षा होने लगी। देखते देखते आंगन में ओले बिछ गये।

डीएम राज शेखर ने ओलावृष्टि के तुरंत बाद जिले सभी तहसील के।एसडीएम को पत्र जारी कर नुकसान की तत्काल रिपोर्ट देने को कहा, किसानों की फसल का नुकसान का आकलन कर डीएम अपने अस्तर से मुआवजा के लिए कार्यवाही करेंगे।

News Reporter

Leave a Reply