निर्माणधीन सीवर ट्रीटमेंट प्लांट का जिलाधिकारी स्वाति एस भदौरिया ने किया निरीक्षण
173

सन्तोषसिंह नेगी/चमोली । जिलाधिकारी स्वाति एस भदौरिया ने जिला मुख्यालय गोपेश्वर में नमामि गंगे के तहत संचालित सीवर ट्रीटमेंट प्लांट (एसटीपी) के निर्माणधीन कार्यो का निरीक्षण किया। उन्होंने एसटीपी निर्माण कार्यो की धीमी प्रगति पर कडी नराजगी जाहिर करते हुए परियोजना प्रबन्धक, उत्तराखण्ड पेयजल संशाधन विकास एवं निर्माण निगम को कार्यो में तेजी लाते हुए निर्धारित समय से कार्य पूरा कराने के निर्देश दिये।

जिलाधिकारी ने लीसा बैंड के निकट विवेकानंद काॅलोनी, पोखरी बैंड एवं दीनदयाल उपाध्याय पार्क के निकट वैतरणी में एसटीपी कार्यो का स्थलीय निरीक्षण किया। मौके पर एसटीपी निर्माण कार्यो में प्रगति न मिलने पर जिलाधिकारी ने परियोजना प्रबन्धक को जमकर फटकार लगाते हुए तय समय के भीतर गुणवत्ता के साथ कार्य पूरा कराने के निर्देश दिये। उन्होंने परियोजना प्रबन्धक से कहा कि एसटीपी के कार्य सरकार की प्राथमिकता में शामिल है, जिन्हें निर्धारित समय से पूरा किया जाना हैै। इसमें किसी प्रकार की शिथिलिता व लापरवाही बर्दाश्त नही होगी। इस दौरान उन्होंने एसटीपी प्रोजेक्टों के डिजायन व नक्शों के अनुसार निर्माण कार्यो की जाॅच भी की। वैतरणी में एसटीपी निर्माण कार्य के निरीक्षण के दौरान जिलाधिकारी ने कटिंग मलवे का भी उचित तरीके से निस्तारण करने के निर्देश को दिये। इस दौरान परियोजना प्रबन्धक ने बताया कि कटिंग का मलवा साइड फिलिंग में प्रयोग में लाया जायेगा। जिलाधिकारी ने कहा कि वैतरणी में एसटीपी कार्यो में जुलाई माह से कोई खास प्रगति नही दिख रही है। एसटीपी निर्माण कार्यो में प्रगति न मिलने पर जिलाधिकारी ने परियोजना प्रबन्धक को जमकर फटकार लगाते हुए तय समय के भीतर गुणवत्ता के साथ कार्य पूरा कराने के निर्देश दिये।

जिलाधिकारी ने पोखरी बैंड के निकट ड्रैनेज नाले का भी निरीक्षण किया। नाले में कूडे को रोकने के बहुत दूर-दूर लगाई जालियों लगाये जाने पर भी नााराजगी प्रकट की। कहा कि नाले पर दूर-दूर लगाई गई जालियों से कूडा एक ही जगह पर अटेकगा और पानी छन कर नहीं निकल पायेगा। उन्होंने नाले के कूडे को रोकने के लिए और जगह जगह पर और जालियां लगाने के निर्दश दिये, ताकि पानी आसानी से छनकर आगे बह सके और एक ही स्थान पर कूडा जमा न हो। इस दौरान परियोजना प्रबन्धक ने बताया कि नाले की देखरेख हेतु ईओ नगर पालिका, गोपेश्वर को कार्य हस्तांतरित किया जा चुका है।

निरीक्षण के दौरान परियोजना प्रबन्धक ने जिलाधिकारी को अवगत कराया कि चमोली, गोपेश्वर में अनुरक्षण एवं संचालन सहित 45.49 करोड की लागत से आई एण्ड डी विद एसटीपी के पाॅच कार्य निर्माणधीन है। इस अवसर पर डीएफओ एनएन पांडे, एसडीएम बुसरा अंसारी, परियोजना प्रबन्धक एसके वर्मा, अपर परियोजना प्रबन्धक संदीप कुमार, परियोजना इंजीनियर बबीता सिंह, आदि मौजूद थे।

Leave a Reply