तहसील मैजिस्ट्रेट के ह्स्तक्षेप से बची क्षेत्रवासियों की जान
39
नैमिष शुक्ल। सीतापुर जनपद मिश्रिख तहशील नैमिषारायण क्षेत्र में मगरमच्छ सराय नदी से होता हुआ कुलूहा बरेठी ग्राम पंचायत के निकट पानी भरे गड्ढ़े में ग्रामवाशियो ने देखा जिससे क्षेत्र में दहशत का माहौल बन गया था । जिसमे वन विभाग जानकर भी अन्जान बना हुआ था । तहसील प्रशासन के ह्स्तक्षेप से बची लोगो की जॉन ।उत्तर प्रदेश सीतापुर जनपद मिश्रिख तहसील अन्तर्गत नैमिषारायण क्षेत्र में मगरमच्छ सराय नदी से होता हुआ कुलूहा बरेठी ग्राम पंचायत के निकट पानी भरे गड्ढ़े में ग्रामवाशियो द्वारा देखा गया जिससे क्षेत्र में दहशत का माहौल बना होने की जानकारी सम्बंधित तहसील प्रशासन को हुई लेकिन वनविभाग पूर्णतयः जानकर अन्जान बन बैठा था ।
जब राजीव पाण्डेय उप जिलाधिकारी मिश्रिख को इस मगरमच्छ के होने की खबर मिली तब बन विभाग के अधिकारी हरकत में आये तथा वह दल बल के साथ मौके पर पहुँचकर उस मगरमच्छ को किसी तरह पकड़कर उसे अपने क्षेत्र से बाहर सराय नदी में भिजवा दिया गया ।
प्रश्न यह उठता है जब लगभग पन्द्रह दिनों से यह मगरमच्छ नैमिषारायण की सराय नदी में देखा गया था जिसकी जानकारी वन विभाग को थी फिर भी वन विभाग ने कुछ भी प्रयास नही किया अगर इस मगरमच्छ ने किसी को अपना शिकार बना लिया होता क्या तब वन विभाग के अधिकारी हरकत में आते लेकिन जब तहसील मैजिस्ट्रेट मिश्रिख राजीव पाण्डेय के सख्त निर्देशों के कारण वन विभाग हरकत में आया और उस मगरमच्छ को आखिकार मजबूर होकर अपनी सीमा से बाहर सराय नदी में सुरक्षित पहुँचा दिया  है ।

Leave a Reply