इस बार का दीपोत्सव अन्तराष्ट्रीय क्षितिज पर पहचान बनाने में सफल होगा
47

रूपेश श्रीवास्तव। सीएम योगी के दूसरे दीपोत्सव को चार चांद लगाने के लिए अयोध्या के साकेत महाविद्यालय में रामायण कालीन प्रसंग मंचन करने के लिए 11 झांकियां बनाई जा रही है। इन 11 झांकियों पर देश की 11 रामलीला मंडलीओ के 132 कलाकार मंचन करेंगे। प्रत्येक झांकी पर रामलीला के 12 कलाकार होंगे। अलग-अलग जिलों से आई रामलीला मंडली महाराज दशरथ के पुत्रेष्टि यज्ञ से लेकर भगवान राम के राज्याभिषेक के प्रसंग के मंचन झांकियों पर दिखाए जाएंगे। इस शोभायात्रा में दीपोत्सव की मुख्य अतिथि कोरिया की फर्स्ट लेडी व सीएम योगी भी शामिल होंगे। उधर कल देर रात्रि राम की पैडी पर लेज़र शो का पूर्वाभ्यास किया गया,तो सतरंगी रोशनी में नहाते हुए राम की पैड़ी को देख वहां उपस्थित जन समूह रोमांचित और भाव-विभोर हो उठा,पूर्वाभ्यास ने स्पष्ट कर दिया है कि इस बार का दीपोत्सव धार्मिक,सांस्कृतिक और आध्यात्मिक क्षेत्र में अमिट छाप छोड़ते हुए अन्तराष्ट्रीय क्षितिज पर पहचान बनाने में सफल होगा |

शोभा यात्रा के सबसे आगे झांकी होगी नारद मोह पुत्रयेष्टि यज्ञ व राम जन्म का प्रसंग। दूसरी झांकी पर दशरथ कैकई संवाद व राम वन गमन का प्रसंग।तीसरे झांकी पर केवट प्रसंग। चौथी झांकी होगी राम विवाह प्रसंग। पाँचवी झांकी होगी धनुष यज्ञ प्रसंग। छठवी झांकी होगी अशोक वाटिका प्रसंग। सातवीं झांकी पर होगा ताड़का वध। आठवी झांकी पर लक्ष्मण को लगेगी शक्ति बाण। नवी झांकी पर रावण करेगा सीता का हरण। दसवीं झांकी पर होगा राम रावण युद्ध और लंका विजय।अंतिम 11 वीं झांकी पर भगवान राम का होगा राज्याभिषेक।

राम की पैड़ी पर लेज़र शो देख आस-पास मौजूद लोगों को जिस तरह का रोमांच से परिपूर्ण आनंद का आभास हुआ,उससे वे कामना करने लगे कि यह दीपोत्सव प्रति वर्ष मनाया जाय,सर्कार यदि बदले तो भी दीपोत्सव का यह सिलसिला कभी न थमे |

Leave a Reply