यूपी के श्रमिकों को डीएम स्वाति भदौरिया ने पहुंचाने की व्यवस्था की

संतोष नेगी/ चमोली/ कोरोन संकट के बीच लॉकडाउन चलते जनपद चमोली में फंसे प्रवासी मजदूरों को उनके घरों तक पहुंचाने का सिलसिला जारी है। चमोली जिला प्रशासन ने गुरूवार को उत्तर प्रदेश के 158 मजदूरों को 6 बसों से उनके गतंब्य स्थलों तक भेजा गया। ये सभी मजदूर यूपी में लखीमपुर, कुशीनगर, गौरखपुर, बिजनौर, सोनभ्रद आदि जिलों के रहने वाले है। जिलाधिकारी स्वाति एस भदौरिया ने यूपी में संबधित जिला प्रशासन से बात करके इन मजदूरों को सुरक्षित घर पहुंचाने की व्यवस्था की। इन मजदूरों को 6 बसों से गौचर से हरिद्वार तक पहुंचाने की व्यवस्था चमोली जिला प्रशासन की ओर से की गई। जबकि हरिद्वार से उनके गंतब्य स्थल तक पहुंचाने हेतु यूपी के संबधित जिला प्रशासन की ओर से व्यवस्था सुनिश्चित कराई गई। ताकि मजदूरों को अपने गतंब्य तक पहुंचने में किसी तरह की परेशानी न हो। गौचर में रवानगी से पहले सभी मजदूरों की मेडिकल जॉच भी कराई गई। चमोली जिला प्रशासन से मिली मदद पर प्रवासी मजदूर बेहद खुश दिखे। अपने घर जाने की इच्छुक अधिकांश प्रवासी मजदूरों को अब जिला प्रशाासन द्वारा उनके गतंब्य स्थालों तक पहुंचाया जा चुका है।

वही दूसरी ओर कोरोना संकट के चलते जिले के प्रवासी नागरिकों की घर वापसी भी लगातार जारी है। विगत 3 मई से अब तक चमोली जनपद में 20146 प्रवासी देश के विभिन्न राज्यों से घर आए है। जिलाधिकारी स्वाति एस भदौरिया के निर्देशानुसार गौचर मेला मैदान में बनाए गए स्टेजिंग एरिया में सभी प्रवासी नागरिकों के आने पर उनकी थर्मल स्क्रीनिंग, मेडिकल जॉच एवं पूरा डाटा तैयार किया जा रहा है। इसके बाद ही प्रवासियों को उनके गतंब्य स्थलों तक पहुंचाया जा रहा है। चमोली में अब तक यूपी से 971, गुजरात से 392, राजस्थान से 753, मध्यप्रदेश से 82, हिमांचल से 216, दिल्ली से 1728, पंजाब से 550, हरियाणा से 1592, महाराष्ट्र से 422, आन्ध्र प्रदेश से 159, दमनदीप से 18, जम्बू कश्मीर से 9, गोवा से 132, दादार एंड नगर हवेली से 149, तमिलनाडू से 16, पश्चिम बंगाल से 1 तथा बिहार से 7, कर्नाटक से 4 सहित कुल 7201 प्रवासी घर पहुॅचे है। इसके अलावा उत्तराखण्ड राज्य के देहरादून, हरिद्वार, उधमसिंह नगर एवं अन्य जनपदों से 12945 प्रवासी अपने घर पहुंचे

Leave a Reply