दलितों की हत्या पर मायावती ने जताई नाराजगी

मनोज श्रीवास्तव/लखनऊ। बहुजन समाज पार्टी की राष्ट्रीय अध्यक्ष मायावती ने मंगलवार को ट्वीट कर उत्तर प्रदेश में दलितों की हत्या को लेकर दुख जताया है। मायावती ने कहा है कि यूपी में दलितों की लगातार हो रही हत्याएं और उनका उत्पीड़न गंभीर बात है।मायावती ने अमरोहा के डोमखेड़ा और बिजनौर के लाडनपुर गांव की घटना का जिक्र करते हुए यूपी सरकार से मांग की है कि वह पीड़ित परिवार की मदद करे और दोषियों पर सख्त कार्रवाई करे।

मायावती ने अपने ट्वीट में लिखा है कि “देश में कोरोना महामारी के इस अति-संकटकालीन दौर में भी वैसे तो सर्वसमाज के करोड़ों गरीब, श्रमिक वर्ग व अन्य मेहनतकश लोग सरकारी अनदेखी व प्रताड़ना आदि झेल रहे हैं। ऐसे समय में भी खासकर यूपी में दलितों की आये दिन हो रही हत्या व उनका उत्पीड़न अति-दुःखद व अति-गंभीर बात है”। एक अन्य ट्वीट में मायावती ने लिखा है कि “अभी हाल ही में अमरोहा के डोमखेड़ा व अब बिजनौर के लाडनपुर गांव में सामंती तत्वों द्वारा दलित की, की गई हत्या अति-निन्दनीय है। यूपी सरकार इन मामलों को अति-गंभीरता से लेकर पीड़ित परिवार की पूरी मदद करे व इनके दोषियों के विरूद्ध सख्त कदम उठाए ताकि ऐसी दर्दनाक घटनायें आगे न हों”।

बता दें कि बिजनौरज के लाडनपुर गांव में सोमवार दोपहर अधेड़ की पीट-पीटकर हत्या कर दी गई।आक्रोशित परिजनों और ग्रामीणों ने आरोपितों की गिरफ्तारी की मांग को लेकर हंगामा किया और कई घंटे तक शव नहीं उठने दिया।पुलिस अधिकारियों के आश्वासन पर हंगामा शांत हुआ। गांव में तनाव को देखते हुए पुलिस तैनात कर दी गई है। जानकारी के अनुसार गांव के नरदेव उर्फ फुसी गांव के ही देवेंद्र सिंह के यहां खेती का काम देखता था। सोमवार दोपहर नरदेव अपने बेटे मुनेश के साथ देवेंद्र के बाग से आम तोड़ रहा था। आरोप है कि इस दौरान गांव के ही तीन भाइयों ने अपने खासपुरा के रिश्तेदारों के साथ मिलकर नरदेव और मुनेश के साथ जमकर मारपीट किया। मुनेश गांव में भाग गया। मुनेश का आरोप है कि जब वह ग्रामीणों व स्वजनों के साथ बाग में पहुंचा तो वहां पिता की लाश पड़ी थी। उसके अनुसार आरोपितों ने ही पीट-पीटकर उसके पिता की हत्या की है।

Leave a Reply