Recent News
दिल्ली सरकार की नई आबकारी नीति के खिलाफ भाजपा ने खोला मोर्चा, सभी वार्डों में धरना देंगे विधायक

*अगर नई शराब की दुकानें खोली गई तो भाजपा महिला मोर्चा के साथ विरोध प्रदर्शन करेगी-रामवीर सिंह बिधूड़ी

*अरविंद केजरीवाल नई शराब की दुकानों को अपने कार्यकर्ताओं को आवंटित कर रहे हैं ताकि खुद की जेब भर सके-विजेन्द्र गुप्ता

*केजरीवाल की नई उपलब्धि ‘पंजाब में नशा मुक्त और दिल्ली शराब युक्त’-योगिता सिंह

केजरीवाल सरकार की नई आबकारी नीति के अंतर्गत खोले जाने वाली नई शराब की दुकानों के खिलाफ प्रदेश भाजपा महिला मोर्चा ने कड़ा विरोध जताया है। आज प्रदेश कार्यालय में हुए प्रेसवार्ता में नेता प्रतिपक्ष श्री रामवीर सिंह बिधूड़ी और प्रदेश महिला मोर्चा अध्यक्ष श्रीमती योगिता सिंह सहित सभी भाजपा विधायकों की उपस्थिति में श्री बिधूड़ी ने कहा कि हमने जब विधानसभा में नई शराब नीति का विरोध किया था, लेकिन इसके समर्थन में केजरीवाल सरकार ने कहा था कि इससे आसानी और सुगम तरीके से सभी के लिए शराब उपलब्ध हो सकेगी। 

प्रेसवार्ता में प्रदेश महामंत्री श्री हर्ष मल्होत्रा, पूर्व प्रदेश अध्यक्ष श्री विजेन्द्र गुप्ता, भाजपा विधायक श्री मोहन सिंह बिष्ट, श्री जितेन्द्र महाजन, श्री अनिल वाजपेयी, श्री अभय वर्मा, श्री अजय महावर, श्री ओम प्रकाश शर्मा एवं प्रदेश भाजपा मीडिया प्रमुख श्री नवीन कुमार जिंदल उपस्थित थे। 

रामवीर सिंह बिधूड़ी ने कहा कि –

दिल्ली में इस वक्त करीब 500 एक्टिव ठेके हैं जिन्हें बढ़ाकर करीब 850 कर दिया गया है जो यह बताता है कि सरकार दिल्ली को शराब की नगर बनाने पर उतारू है। पहले रात 11 बजे तक ही शराब की दुकाने खोली जाती थी लेकिन नई शराब नीति के कारण अब यह रात को 3 बजे तक खोली जाएगी। ऐसे में एक शांत और सभ्य समाज की कल्पना भी कैसे की जा सकती है। उन्होंने कहा कि नई शराब नीति लागू करके दिल्ली सरकार सिर्फ अपनी तिजोरी भरना चाहती है और दिल्ली को सिर्फ शराब की कमाई से चलाना चाहती है जिसे भाजपा हरगिज बर्दाश्त नहीं करेगी।

बिधूड़ी ने दिल्लीवालों से आग्रह करते हुए कहा कि दिल्ली के किसी भी इलाके में अगर शराब की नई दुकान खोली जा रही हो तो उसकी सूचना हमें दें, भाजपा विधायक उस स्थान पर जाएंगे और उसका पूरजोर विरोध करेंगे। भाजपा इसका कड़ा विरोध करेगी और सरकार को मजबूर करेगी कि वह दिल्ली में गली-गली में शराब की दुकानें खोलने वाली अपनी नई शराब नीति को वापस ले। उन्होंने कहा कि पहले हर त्योहार और महापुरुषों के जन्मदिन आदि पर ड्राई डे होता था, लेकिन अब पूरे साल में सिर्फ 3 ड्राई डे तय किए गए हैं जो यह बताता है कि केजरीवाल  सरकार अपनी रेवेन्यू बढ़ाने के लिए किसी भी स्तर पर जाने को तैयार है। 

शराब की सारी बिक्री और उसके अधिकार अब प्राइवेट हाथों में सौंप दिए गए हैं। जिसके बाद शराब की किस्म, ब्रांड, क्वालिटी और कीमत सब कुछ प्राइवेट हाथों में होगा। यानि आप कौन सा ब्रांड पीएंगे और उसके लिए कितने पैसों का भुगतान करेंगे यह सब कुछ शराब के ठेकेदार तय करेंगे।  उन्होंने कहा कि नई शराब नीति में होलसेल लाइसेंस धारकों का कमीशन बढ़ाकर 12 फीसदी कर दिया गया है। इसमें से 6 फीसदी नकद रूप में दिल्ली सरकार को देना होगा और बाकी के 6 फीसदी ठेकेदार अपने पास रखेंगे। सरकार को मिलने वाला यह पैसा आम आदमी पार्टी के खाते में जाएगा जिसे वे चुनावों पर खर्च करेंगे।

पूर्व प्रदेश अध्यक्ष श्री विजेन्द्र गुप्ता ने कहा –

नई शराब की दुकानें नई सिरे से आवंटित किया जा रहा है जिसमें ज्यादातर ठेकेदार या तो आम आदमी पार्टी के नेता हैं या कार्यकर्ता। जिसका सीधा मतलब है कि दिल्ली के युवाओं को नशे में झोककर केजरीवाल सरकार खुद की जेब भरना चाहती है अपनी पार्टी का रेवेन्यू बढ़ाना चाहती है ताकि दूसरे राज्यों में इन्हीं पैसों का उपयोग चुनावों में कर सके। 

उन्होंने कहा कि एक तरफ अरविंद केजरीवाल खुद जाकर शराब की दुकान बंद कराते हैं और आज गली-मोहल्लों तक शराब पहुंचाने की बात कर रहे हैं। इस नई आबकारी नीति से महिलाओं की सुरक्षा और क्राइम दर बढ़ेंगे इसलिए भाजपा इसका विरोध करती है। एक तरफ तो रेस्टोरेंट और क्लब, बार को समय से बंद करने की केजरीवाल आदेश जारी करते हैं तो दूसरी तरफ रेस्टोरेंट, क्लब, बार, एयरपोर्ट और बाकी जगह अलग-अलग जगहों पर शराब बांटने के आदेश देते हैं। पहले शराब पीने की उम्र 25 साल थी उसे घटाकर 21 साल कर दी गई है। 

प्रदेश भाजपा महिला मोर्चा की अध्यक्षा श्रीमती योगिता सिंह ने कहा कि अगर केजरीवाल सरकार ने एक भी नई दुकानें खोली तो दिल्ली की महिला मोर्चा इसके खिलाफ विरोध प्रदर्शन करेगी। खुद को राम भक्त और महिलाओं की सुरक्षा की बात करते हैं लेकिन पूरी दिल्ली को शराब के नशे में डूबोना चाहते हैं। क्या शराब पीकर सड़कों पर होने वाले क्राइम की जिम्मेदारी लेने को अरविंद केजरीवाल तैयार हैं। क्या केजरीवाल खुद के बेटे-बेटी को शराब पीने की छूट देंगे और उन्हें शराब पीने का तरीका सिखाएंगे। 

श्रीमती योगिता सिंह ने कहा-

अरविंद केजरीवाल श्वेत पत्र जारी करें कि आप जो नई शराब की दुकानें खोल रहे हैं, उससे कोई महिला उत्पीड़न नहीं होगा। जहां नशा बिकेगा वहां का महौल कैसा होगा और उसका सबसे ज्यादा असर किस पर होगा। पंजाब में जाकर शराब मुक्त राज्य की बात करने वाले अरविंद केजरीवाल आप दिल्ली को शराब युक्त क्यों बनाना चाहते हैं। ऐसी कौन सी महिला होगी जो यह चाहती होगी कि उसका बेटा, पति और पिता शराब के नशे में खुद को बर्बाद कर लें।

News Reporter
पत्रकारिता के क्षेत्र में अपना करियर बनाने वाली निकिता सिंह मूल रूप से उत्तर प्रदेश के आजमगढ़ से ताल्लुक रखती हैं पिछले कुछ सालों से परिवार के साथ रांची में रह रहीं हैं और अब देश की राजधानी दिल्ली में अपनी सेवा दे रहीं हैं। नेशनल ब्रॉडकास्टिंग अकादमी से पत्रकारिता में स्नातक करने के बाद निकिता ने काफी समय तक राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली के न्यूज़ पोर्टल्स में काम किया। उन्होंने अपने कैरियर में रिपोर्टिंग से लेकर एंकरिंग के साथ-साथ वॉइस ओवर में भी तजुर्बा हासिल किया। वर्त्तमान में नमामि भारत वेब चैनल में कार्यरत हैं। बदलती देश कि राजनीती, प्रशासन और अर्थव्यवस्था में निकिता की विशेष रुचि रही है इसीलिए पत्रकारिता की शुरुआत से ही आम जन मानस को प्रभावित करने वाली खबरों पर पैनी नज़र रखती आ रही हैं। बेबाकी से लिखने के साथ-साथ खाने पीने का अच्छा शौक है। लोकतंत्र के चौथे स्तंभ में योगदान जारी है।

Leave a Reply

error: Content is protected !!