स्विट्जरलैंड में हिजाब से चेहरा ढकने पर पाबंदी, मुस्लिम संगठनों ने जताया विरोध

स्विट्जरलैंड में मुस्लिम महिलाओं के हिजाब पहनकर चेहरा ढकने पर रोक लगाने की तैयारी हो गई है। स्विट्जरलैंड में आम जनता ने सार्वजनिक स्थानों पर नकाब और बुर्का सहित पूरे चेहरे की कवरिंग पर प्रतिबंध लगाने वाले जनमत संग्रह के लिए वोट किया और अधिकतर लोगों ने इस बैन के पक्ष में ही मतदान किया। रविवार को हुए जनमत संग्रह में 51 फीसदी स्विस लोगों ने सार्वजनिक स्थानों पर बुर्का पहनने पर रोक लगाने के प्रस्ताव को समर्थन दिया। इसका मतलब ये है कि सार्वजनिक रूप से सार्वजनिक कार्यालयों पर, सार्वजनिक परिवहन पर, रेस्टोरेंट, दुकानों में और ग्रामीण इलाकों में, सार्वजनिक रूप से सभी सुलभ स्थानों पर प्रतिबंध चेहरे को पूरी तरह ढकने पर बैन लगाया जाएगा।

आपको बता दें कि फ्रांस ने 2011 में ही चेहरे को पूरी तरह से ढकने वाले कपड़े पहनने पर बैन लगा दिया था। वहीं डेनमार्क, ऑस्ट्रिया, नीदरलैंड और बुल्गेरिया में भी सार्वजनिक जगहों पर बुर्का पहनने पर पाबंदियां हैं। हालांकि स्विट्जरलैंड में बुर्का पर रेफरेंडम को लेकर समर्थक और आलोचक अपनी-अपनी राय व्यक्त कर रहे हैं।

गौरतलब है कि इस साल की शुरुआत में ल्यूसर्न विश्वविद्यालय ने एक सर्वेक्षण में दावा किया था कि स्विट्जरलैंड में कोई भी महिला बुर्का नहीं पहनती है, जबकि 30 फीसदी महिलाएं ऐसी हैं जो सार्वजनिक स्थानों पर जाने के दौरान नकाब से चेहरा ढंकती हैं। इस रेफरेंडम को स्विट्जरलैंड में रहने वाले मुस्लिम समुदाय के खिलाफ देखा जा रहा है।

Leave a Reply