3 दिन से आमरण अनशन पर बैठीं महिलाओं की हालत बिगड़ी, नही हटा अतिक्रमण
269

सन्तोषसिंह नेगी /चमोली। ब्लाक पोखरी में रिंगल खाली सैण पर अतिक्रमण का विवाद सुलझाने में हो रहे देरी के कारण तीन महिलाओ का आमरण  अनशन तीसरे दिन भी जारी रहा रविवार को ग्रामीणों ने कहा तहसील प्रशासन और राजस्व विभाग की लेटलती के कारण आमरण अनशन करना पड़ा इन महिलाओ का संघर्ष व्यर्थ नही जाएगा रविवार  को आमरण अनशन पर बैठी महिलाओ में पुष्पा देवी, सावित्री देवी, बसंती देवी के स्वास्थ में गिरावट आनी शुरू हो गयी है।

आमरण अनशन पर बैठी पुष्पा देवी ने कहा गोचर पनघट की भूमि पर जितना कब्जा एक आदमी ने किया है वह जमीन एक गांव बसने के बराबर है इसी प्रकार कब्जा होता रहा तो केवल नाम का गोचर पनघट रह जाएगा, जब तक अतिक्रमण नही हटाया जाता अनशन जारी रहेगा ।सावित्री देवी व बसंती देवी ने कहा चार गांवो का संघर्ष गोचर पनघट के लिए है जिस प्रकार  अतिक्रमण हटाने में शासन-प्रशासन सुस्ती दिखा रहा लगता है प्रशासन भी किसी के दबाव में काम कर रहा है। हक के लिए आमरण अनशन किया है गोचर पनघट से अतिक्रमण हट कर रहेगा आमरण अनशन तभी समाप्त होगा।

आमरण अनशन पर बैठी    बसंती देवी के स्वास्थ्य में   भारी गिरावट आ गयी लेकिन स्वास्थ्य विभाग की टीम यहां तक नही पहुंच पायी।गौरतलब है कि रिगल खाल सैण जो गोचर पनघट  है वहीं नैल, गुडम, सिदेली, कुलेन्डू, के ग्रामीणों का कहना है नौली के कुछ ग्रामीणों द्वारा लगभग 150 नाली बंजर भूमि पर अतिक्रमण  किया है कब्जा हटाने के लिए प्रशासन से गुहार लगाई है लेकिन तहसील प्रशासन व राजस्व विभाग दबाव में काम कर रहा है जिसके कारण अतिक्रमण हटने में देरी  हो रही है। महिलाओं ने कहा हमारी मांग गोचर पनघट से अतिक्रमण हटाने की है तभी आमरण अनशन समाप्त होगा ।

अनशन स्थल पर ग्राम प्रधान दीपा देवी, ग्राम प्रधान गुड्डी देवी  भूतनाथ संघर्ष के अध्यक्ष जीतसिंह प्रतापसिंह कुंवरसिंह , जयदीपसिंह, सजनसिंह  , दिलवरसिंह , मुकेशसिंह , शंकरसिंह दिनेशसिंह , सतेसिंह, तिलोकसिंह , बचनसिह , अमरसिंह  ,प्रतापसिंह, बीरेंद्र सिंह , पुष्पा देवी, किसानसिंह , विटेंद्रसिंह , देवेन्द्रसिंह ,,राकेशसिंह, प्रतापसिंह ,गजेन्द्रसिंह , सतेंद्रसिह,  सतीशसिंह नरेंद्र सिंह गुसाई, आदि लोग मौजूद थे

Leave a Reply