109

दिल्ली प्रदेश कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष अजय माकन के नेतृत्व में लोकतंत्र बचाओ दिवस को दिल्ली के सभी 14 जिलों में कांग्रेस कार्यकर्ताओं व आम जन के साथ आयोजित किया गया और धरने के बाद प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी का पुतला भी फूंका गया। कर्नाटक में भारतीय जनता पार्टी को पूर्ण बहुमत न मिलने पर जबरन असंवैधानिक तरीके से राज्यपाल पर दवाब डालकर सरकार बनाने की प्रक्रिया कर प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी और भाजपा अध्यक्ष अमित शाह द्वारा लोकतंत्र की हत्या करने के खिलाफ आज कांग्रेस पार्टी के अध्यक्ष राहुल गांधी के आव्हान पर पूरे देश में लोकतंत्र बचाओ दिवस मनाया गया। जबकि कांग्रेस और जेडीएस के पास पूर्ण बहुमत होने के बावजूद भी राज्यपाल ने दवाब में आकर भाजपा को मौका दिया।

नई दिल्ली जिला कांग्रेस कमेटी के द्वारा आर.के. पुरम में आयोजित धरने को सम्बोधित करते हुए अजय माकन ने कहा कि कर्नाटक में भाजपा द्वारा सत्ता हासिल करने के लिए गैर संवैधानिक तरीके अपनाने के खिलाफ आज सर्वोच्च न्यायालय के न्यायधीश सीकरी ने सुनवाई करते हुए शुरु के पांच मिनट में ही कल फ्लोर टेस्ट कराने की हिदायत दी, इसका मतलब साफ हो जाता है कि येदुरप्पा दो दिन के ही मुख्यमंत्री रहेंगे जिसका एक दिन बीत गया है।

माकन ने कहा कि भाजपा ने कर्नाटक में यह साबित कर दिया है कि भाजपा के किसी भी काम करने के तरीके में नैतिकता नही है और न ही उनकी सोच में न्याय है, वे संविधान और संवैधानिक संस्थाओं की इज्जत नही करते। कांग्रेस पार्टी आज सड़क पर भाजपा की इसी सोच के खिलाफ उतरी है। श्री माकन ने कहा कि यह बड़ी हैरानी की बात है कि कर्नाटक में हमारी पार्टी ने 38 प्रतिशत वोट प्राप्त किए तथा दो निर्दलीय व जनता दल सैक्यूलर के वोट प्रतिशत को मिलाए तो कुल 60 प्रतिशत के करीब वोट मिले जिन्होंने बहुमत से ज्यादा 118 सीटें जीती हैं जबकि भाजपा जिसने 36 प्रतिशत वोट प्राप्त किए थे उनके पास केवल 104 सीटें हैं, उसको राज्यपाल ने सरकार बनाने का मौका दिया।

माकन ने कर्नाटक के उपराज्यपाल को आड़े हाथों लेते हुए कहा कि कर्नाटक का गर्वनर हाउस पहले घोड़ो का अस्तबल हुआ करता था, जहां पर अरबी घोड़ों की खरीद-फरोख्त होती थी और यह जगह अंग्रेजों के शासन काल में खरीदी गई थी। माकन ने कहा कि खरीद फरोख्त का असर राज्यपाल निवास पर भी साफतौर से दिखाई दे रहा है क्योंकि राज्यपाल ने सभी संवैधानिक मान्यताओं को ताक पर रखते हुए कांग्रेस जेडीएस के दावे को दर किनार कर भाजपा जिसके पास बहुमत से कम विधायक है उनको सरकार बनाने के लिए अनुमति दे दी। माकन ने कहा कि मुझे समझ नही आता कि जिस भाजपा के पास बहुमत नही है वह बिना खरीद-फरोख्त के कैसे बहुमत साबित कर सकती है।

 

दिल्ली की पूर्व मुख्यमंत्री शीला दीक्षित ने कहा कि नरेन्द्र मोदी सरकार से पहले इतिहास में पहले कभी नही देखा गया कि उस पार्टी के नेता को मुख्यमंत्री पद की शपथ के लिए अनुमति दे दी गई जिसके पास बहुमत नही है। उन्होंने कहा कि कर्नाटक में लोकतंत्र के सभी मूल्यों को बदल दिया गया। उन्होंने कहा कि कांग्रेस पार्टी डा0 भीमराव अम्बेडकर द्वारा बनाए गए संविधान की सुरक्षा के लिए कटिबद्ध है और इसकी रक्षा के लिए कोई कसर नही छोड़ेंगे।

सभी 14 जिला कांग्रेस कमेटियों में आयोजित धरनों में प्रदेश अध्यक्ष श्री अजय माकन के अलावा दिल्ली की पूर्व मुख्यमंत्री श्रीमती शीला दीक्षित, दिल्ली प्रभारी श्री पीसी चाको, पूर्व मंत्री, डा0 योगानन्द शास्त्री, नगर निगम में कांग्रेस दल के नेता अभिषेक दत्त, अ0भा0क0कमेटी के पूर्व सचिव प्रवीन डावर, जिला अध्यक्ष भीष्म शर्मा, रामसिंह नेताजी, सुरेन्द्र कुमार,मौहम्मद उस्मान, लक्ष्मण रावत, विरेन्द्र कसाना, प्रदीप शर्मा, ओमदत्त यादव, मदन खोरवाल, हरी किशन जिंदल, इन्द्रजीत सिंह, राजेश चौहान, सुनील वोहरा, पूर्व विधायक नीरज बसौया, पूर्व निगम पार्षद धर्मवीर, नीतू वर्मा, जयश्री पंवार, मुख्य मीडिया कॉआर्डिनेटर मेहदी माजिद, इंदू सूरी मुख्य रुप से मौजूद थे।

Leave a Reply