मुस्लिमों की समस्या के समाधान के लिए सीएम, पीएम जिससे भी मिलना होगा मिलेंगे- शिवपाल
131

ळखनऊ। प्रगतिशील समाजवादी पार्टी (लोहिया) के कैम्प कार्यालय पर गरीब नवाज फाउंडेशन व वारसी समूह के संयुक्त तत्वाधान में देश के प्रमुख मौलाना व मुस्लिम बुद्धिजीवियों ने आज के वर्तमान राजनीतिक- सामाजिक संदर्भ पर चर्चा की। कार्यक्रम में प्रसपा लोहिया के प्रमुख शिवपाल सिंह यादव व गरीब नवाज फाउंडेशन के चेयरमैन अंसार रजा भी उपस्थित रहे। इस दौरान सभा को संबोधित करते हुए श्री यादव ने मुस्लिमों को आश्वासन दिलाया कि प्रसपा उनके हर दुःख-सुख में हमेशा साथ देगी। वहीं अंसार रजा ने सपा बसपा गठबंधन पर जमकर हमला किया।

कार्यक्रम को संबोधित करते हुए पार्टी प्रमुख शिवपाल यादव ने कहा कि हमने हमेशा मुसलमानों की लड़ाई लड़ी है, आगे भी हम आपका साथ देते रहेंगे।  साथ ही सपा बसपा पर प्रहार करते हुए उन्होंने कहा कि ये लोग तो सार्वजनिक मंच से मुस्लिमों का नाम लेने से भी डरते हैं। साथ ही श्री यादव ने कहा कि मुझे 2017 विधानसभा चुनाव में हराने के लिए अखिलेश व सपा ने पूरी ताकत लगा दी थी जबकि मैं साइकिल चुनाव चिन्ह पर ही लड़ रहा था हालांकि मुझे शानदार जीत हासिल हुई।  उन्होंने आगे कहा कि अखिलेश ने ठान रखा है कि वह समाजवादी पार्टी को सड़क पर लाकर ही दम लेंगे।  आगे श्री यादव ने कहा कि मुस्लिमों की समस्या के समाधान के लिए सीएम, पीएम जिससे भी मिलना होगा हम मिलकर आपकी समस्याओं का समाधान करेंगे।

वहीं सभा को संबोधित करते हुए अंसार रजा ने कहा कि हमें अब अपनी अहमियत समझनी होगी, राजनीतिक पार्टियों ने मुसलमानों का ठगने का काम किया है।  हमने सबको देख लिया, अब हमें अपना दम दिखाना होगा। मौलाना अंसार रजा ने सपा-बसपा गठबंधन पर जमकर हमला बोला। मोदी को लेकर मुलायम सिंह यादव द्वारा संसद में दिये गए बयान का जिक्र करते हुए उन्होंने कहा कि आखिर किसके इशारों पर नेताजी ने भरी संसद में बयान दिया। मुलायम मोदी को पुनः प्रधानमंत्री बनने की इच्छा जताते हैं, वहीं उनके पुत्र अखिलेश भाजपा को उखाड़ फेंकने का नाटक करते हैं।  यह सब अंदरूनी मिली भगत है, नहीं तो अभी तक अखिलेश ने अपने पिताजी के बयान का खंडन क्यों नहीं किया, न ही बुआ यानी बसपा सुप्रीमो ही इस मामले पर कुछ बोलने को तैयार हैं । मौलाना अंसार रजा ने सपा-बसपा गठबंधन पर जमकर हमला बोला। मोदी को लेकर मुलायम सिंह यादव द्वारा संसद में दिये गए बयान का जिक्र करते हुए उन्होंने कहा कि आखिर किसके इशारों पर नेताजी ने भरी संसद में बयान दिया। मुलायम मोदी को पुनः प्रधानमंत्री बनने की इच्छा जताते हैं, वहीं उनके पुत्र अखिलेश भाजपा को उखाड़ फेंकने का नाटक करते हैं।  यह सब अंदरूनी मिली भगत है, नहीं तो अभी तक अखिलेश ने अपने पिताजी के बयान का खंडन क्यों नहीं किया, न ही बुआ यानी बसपा सुप्रीमो ही इस मामले पर कुछ बोलने को तैयार हैं आगे रजा ने पुलवामा हमले की निंदा करते हुए कहा कि दुनिया में हिन्दुस्तान से अच्छा दूसरा मुल्क नहीं है।

Leave a Reply