शामली : महापंचायत के लिए  गाँव-गाँव में लाउडस्पीकर से अपील

पंकज मलिक जनपद शामली में किसानों की 5 फरवरी को होने वाली महापंचायत में किसान नेता जी जान से लगे हुए हैं जिसके चलते वह गाड़ियों में सवार होकर लाउडस्पीकर के माध्यम से कल होने वाली महापंचायत में भीड़ जुटाने की अपील कर रहे हैं। जिसका वीडियो भी सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है। वायरल वीडियो में लाउडस्पीकर के माध्यम से महापंचायत में जयंत चौधरी के पहुंचने का जिक्र करते हुए महापंचायत में जनता से किसानों के हित में इकट्ठा होने ओर मानसम्मान को बचाने की अपील की जा रही है। जबकि प्रशासन ने 5 फरवरी की महापंचायत के लिए मांगी गई अनुमति को निरस्त कर दिया है और जनपद में धारा 144 लागू कर दी है।

दरसल जनपद शामली के गांव भैंसवाल में एक महापंचायत का आयोजन रखा गया है। यह महापंचायत जनपद मुजफ्फरनगर में हुई महापंचायत के बाद रखी गई है। इस महापंचायत में आरएलडी के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष जयंत चौधरी पहुचेंगे। वही जनपद शामली के आरएलडी के जिलाध्यक्ष योगेंद्र चैयरमैन द्वारा प्रशासन से महापंचायत करने के लिए अनुमति मांगी गई थी। जिस पर पांच से 10 हज़ार लोगों को इकट्ठा होने की बात कही गई थी।

वही प्रशासन ने आरएलडी कार्यकर्ताओं द्वारा महापंचायत के लिए मांगी गई अनुमति को विभिन्न कारणों का हवाला देते हुए निरस्त कर दिया है। लेकिन उसके बावजूद भी किसान महापंचायत को करने के लिए अडिग है। जिसके लिए वह लाउडस्पीकर के माध्यम से गाँव-गाँव जाकर जनता से अपील भी कर रहे हैं। जिसका वीडियो भी सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है। वही प्रशासन द्वारा किसानों के मांग पत्र को निरस्त किए जाने के बाद से ही महापंचायत करने वाले किसानो ओर प्रशासन के बीच टकराव की स्थिति पैदा हो गई है। लेकिन किसान भी अपनी जिद्द पर अड़े हुए है।

जिसके चलते वह लाउडस्पीकर के माध्यम से महापंचायत को सफल बनाने की अपील कर रहे है। वही बताया जा रहा है कि राष्ट्रीय लोकदल के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष जयंत चौधरी द्वारा इस महापंचायत को सम्बोधित किया जाएगा। अब देखना होगा कि प्रशासन द्वारा निरस्त की गई महापंचायत की अनुमति के बाद क्या किसान महापंचायत कर पाते हैं या नहीं। यह एक बड़ा सवाल पुलिस प्रशासन और किसानों के बीच खडा हो गया है।

Leave a Reply