फिर से चली अफवाहों की आँधी
41

राज कुमार शर्मा । हमारे देश में हर मौसम कोई ना कोई नई अफवाह लेकर आता है, जिसे हवा की तरह फैलने में ज्यादा समय नहीं लगता। चाहें सत्यता का कोई प्रमाण हो या ना हो, लेकिन एक जगह से चला झूठ कब हजारों लाखों लोगों तक पहुँचकर उन सभी लोगों को अपनी जद में ले लेता है, कुछ पता नहीं चलता। सबसे चौकाने वाली बात ये है की उन अफवाहों पर लोग विश्वास भी कर लेते हैं और खासतौर पर भारतीय औरतें। अब नयी किस्सा चल रहा है हिन्दू देवी माँ चामुन्डा देवी के नाम पर , जहाँ अब ये खबर चल रही है की बीते 31 अक्टूबर को अहोई अष्टमी नाम का त्यौहार था। यह त्यौहार औरतें अपने बच्चों की उम्र के लिए रखती हैं। अफवाह ये है की इसी दिन गाज़ियाबाद में किसी एक ही घर में चार बच्चे मर गए औऱ जो माँ चामुण्डा का प्रकोप था। अब सभी औरतें माँ चामुण्डा पर दूध चढा रही हैं, और साथ में दो लोंग और कई चीजें भी चढ़ाई जा रही हैं। साथ ही कई मुंह से कई बातें सामने आ रही हैं। कोई कह रहा है की बच्चों के मरने की घटना  गाजियाबाद की है तो कोई औरंगाबाद की बता रहा है। लेकिन ऐसी किसी भी घटना की कोई भी जानकारी सामने नहीं आई है। यह सिर्फ एक अफवाह है जो फैलती ही जा रही है।

पहले भी आ चुकी हैं ऐसी घटनाएं

भारत में ऐसी घटनाएं कोई नई नहीं हैं, हर साल कोई ना कोई ऐसी घटनाएं सामने आ ही जाती हैं। इससे पहले भी सड़कों पर चुड़ेल के घूमने, औरतों की चोटी कटने , पत्थर के भूत द्वारा खोटे जाने जैसी अनेकों घटनाएं सामने आ चुकी हैं।

Leave a Reply