57 साल बाद भी जर्जर भवन की सुध नहीं ले पाया शिक्षा विभाग

संतोष नेगी /चमोली/ विकासखंड पोखरी के गोदली इंटर कॉलेज का मुख्य भवन खस्ताहाल में है कहीं बाहर विद्यालय द्वारा इस संबंध में शिक्षा विभाग को अवगत कराया गया है लेकिन आज तक भवन की स्वीकृति नहीं मिली अभिभावक संघ के द्वारा शासन को भी अवगत कराया गया इसके बावजूद भवन की स्वीकृति ना मिलना दुर्भाग्य है
1963 में दस गांवों के सहयोग से इस भवन का निर्माण जूनियर के लिए किया गया था 1979 में इसी भवन पर हाईस्कूल 2005 में इंटर भी खोल दिया गया विभाग ने विद्यालय का उच्चीकरण तो किया उसके बावजूद विभाग 57 साल बाद भी जर्जर भवन की सुध नहीं ले पाया। वर्तमान में विद्यालय का मुख्य भवन में प्रधानाचार्य कक्ष, स्टाफ रूम हाई स्कूल कक्षा चलती है वहां जितनी बरसात होती है उतना पानी कमरों में है


प्रधानाचार्य रूपचंद सैलानी ने कहा बरसात होने से स्टाफ कक्ष से लेकर हाई स्कूल इंटर के बच्चों की कक्षा तक पानी पानी ही रहता है जिसके कारण पठन-पाठन कार्य सही से नहीं हो पाता है इस संबंध में कहीं बाहर विभाग को अवगत भी कराया गया है 2014 में विद्यालय के द्वारा मुख्य भवन निर्माण का प्रस्ताव विभाग को भेजा गया अभी विभाग द्वारा कोई कार्रवाई नहीं की गई
वहीं खंड शिक्षा अधिकारी ज्ञानी लाल सैलानी ने कहा गोदली इंटर कालेज के मुख्य भवन के लिए 88 लाख का प्रस्ताव शासन को भेजा जा चुका है लेकिन कोविड-19 के कारण इस बार प्रस्ताव रूका हुआ है प्रस्ताव पास होते ही विद्यालय समस्या हल हो जाएगी।

Leave a Reply