2019 चुनाव से पहले राम मंदिर निर्माण को लेकर आमरण अनशन पर बैठे संत
100

2019 चुनाव से पहले राम मंदिर निर्माण को लेकर अयोध्या के एक संत ने जिद ठान ली है । मंदिर निर्माण के लिए जहाँ एक तरफ दिल्ली में राम मंदिर निर्माण संत उच्चाधिकार समिति की बैठक का आयोजन किया जा रहा है । वहीँ दूसरी तरफ अयोध्या में एक संत राम मंदिर निर्माण को लेकर अनिश्चित कालीन आमरण अनशन पर बैठ गए  है। जिसको लेकर संत ने कल शिला पूजन भी किया था.

राम नगरी अयोध्या में भव्य राम मंदिर निर्माण हो । इसके लिए अयोध्या के संत ने 2019 के पहले मंदिर निर्माण को लेकर सरकार को चुनौती देते हुए तपस्वी छावनी महंत परमहंस दास राम घाट पर कारसेवक पुरम कार्यशाला के निकट आमरण अनशन पर बैठ गए है उनका कहना है कि जबतक राम मंदिर निर्माण की घोषणा नहीं हो जाती तब तक वे अन्न जल ग्रहण नहीं करेंगे.महंत परमहंस दास ने बताया कि राम मंदिर निर्माण के लिए काफी समय से लोग हर तरह के प्रयास करते आ रहे हैं, बीजेपी सरकार ने अपने एजेंडे में राम मंदिर निर्माण को रखा था इस समय केंद्र और राज्य सरकार बहुमत में हैं लेकिन अभी तक राम मंदिर निर्माण को लेकर कोई कार्य नहीं किया. संत ने कहा मैंने सरकार से मांग हैं कि भगवान के नाम से सत्ता में आये हैं इस वादे को पूरा करें जिस तरह से एससी एसटी कानून को बदल कर नया कानून पारित किया उसी तरह से राम मंदिर के लिए भी कानून बने.महंत परमहंस दास ने कहा कि मंदिर के लिए सभी प्रकार से प्रयास कर थक चुके हैं अब अंतिम प्रयास हैं जिसके लिए आमरण अनशन कर अपनी जान देने के लिए तैयार हूँ.आमरण अनसन अनवरत चलता रहेगा और राम मंदिर निर्माण की घोषणा होने के बाद ही अनसन टूटेगा.

News Reporter

Leave a Reply