; मोदी सरकार पर भड़की प्रियंका गांधी - Namami Bharat
1win1.az luckyjet.ar mines-games.com mostbet-casino-uz.com bible-spbda.info роскультцентр.рф
मोदी सरकार पर भड़की प्रियंका गांधी

लखीमपुर खीरी में हुए हिंसक बवाल में मारे गए किसानों के परिजनों से मुलाकात करने जा रही प्रियंका गांधी को रविवार देर रात सीतापुर के पास पुलिस ने हिरासत में ले लिया था। तब से ही प्रियंका गांधी सीतापुर के गेस्ट हाउस में ‘सत्याग्रह’ कर रही हैं। इसको लेकर  सोमवार से ही कांग्रेसी कार्यकर्ताओं का गेस्ट हाउस के बाहर प्रदर्शन भी जारी है।  प्रियंका गांधी ने अपने ट्वीट पर  एक वीडियो शेयर किया और मोदी सरकार से सवाल पूछा है।

आपको बता दें कि प्रियंका गांधी द्वारा शेयर किए गए वीडियो में दिखाई दे रहा है कि काफिले की गाड़ियां किसानों को रौंदती हुई निकलती जा रही है। इस पर प्रियंका गांधी ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को टैग कर लिखा कि, “मोदी जी आपकी सरकार ने बग़ैर किसी ऑर्डर और FIR के मुझे पिछले 28 घंटे से हिरासत में रखा है। अन्नदाता को कुचल देने वाला ये व्यक्ति अब तक गिरफ़्तार नहीं हुआ। क्यों?”

राहुल ने भी ट्ववीट कर कहा

वहीं प्रियंका के इस ट्वीट पर उनके भाई और कांग्रेस के पूर्व राष्ट्रीय अध्यक्ष राहुल गांधी ने उन्हें सच्ची कांग्रेसी बताते हुए उनका समर्थन किया है। उन्होंने अपने ट्वीट में लिखा कि, “जिसे हिरासत में रखा है, वो डरती नहीं है- सच्ची कांग्रेसी है, हार नहीं मानेगी! सत्याग्रह रुकेगा नहीं।”

आपको बताते चलें की  प्रियंका गांधी हिरासत में लिए जाने के बाद गेस्ट हाउस में सफाई भी करती नजर आई थीं। उनके झाडू लगाने का वीडियो सोशल मीडिया पर भी खूब देखा गया। वहीं पीड़ित परिवारों से मिलने को लेकर प्रियंका गांधी ने कहा है कि “जब तक किसानों के पीड़ित परिवारों व अन्य किसानों से मिलने नहीं दिया जाता तबतक में  अन्न ग्रहण नही करूंगी।”

कई बड़े दिग्गज नेताओं को नहीं मिली इजाजत-

बता दें कि रविवार को उत्तर प्रदेश के लखीमपुर खीरी में हुए हिंसक बवाल के बाद राज्य में सियासी माहौल गरम हो गया है। तमाम राजनीतिक दल पीड़ित परिवारों से मिलने की कोशिश में हैं, हालांकि प्रशासन ने उन्हें इजाजत नहीं दी। प्रियंका गांधी के अलावा लखीमपुर खीरी जाने वाले अन्य विपक्षी नेताओं में समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव को भी यूपी पुलिस ने उनके घर के बाहर ही रोक लिया था। इसके अलावा छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल और पंजाब के मुख्यमंत्री चन्नी को भी लखनऊ में ना उतरने देने का आदेश यूपी सरकार ने सोमवार को जारी किया था।

आशीष मिश्रा पर किसानों का आरोप –

लखीमपुर खीरी में हुई हिंसा के मामले में आरोप केंद्रीय गृह राज्य मंत्री अजय मिश्रा के बेटे आशीष मिश्रा पर लगा है। किसानों ने आरोप लगाया है कि शांतिपूर्ण चल रहे प्रदर्शन के बीच आशीष मिश्रा तीन गाड़ियों के साथ आए और किसानों को कुचलते हुए निकल गए।

News Reporter
पत्रकारिता के क्षेत्र में अपना करियर बनाने वाली निकिता सिंह मूल रूप से उत्तर प्रदेश के आजमगढ़ से ताल्लुक रखती हैं पिछले कुछ सालों से परिवार के साथ रांची में रह रहीं हैं और अब देश की राजधानी दिल्ली में अपनी सेवा दे रहीं हैं। नेशनल ब्रॉडकास्टिंग अकादमी से पत्रकारिता में स्नातक करने के बाद निकिता ने काफी समय तक राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली के न्यूज़ पोर्टल्स में काम किया। उन्होंने अपने कैरियर में रिपोर्टिंग से लेकर एंकरिंग के साथ-साथ वॉइस ओवर में भी तजुर्बा हासिल किया। वर्त्तमान में नमामि भारत वेब चैनल में कार्यरत हैं। बदलती देश कि राजनीती, प्रशासन और अर्थव्यवस्था में निकिता की विशेष रुचि रही है इसीलिए पत्रकारिता की शुरुआत से ही आम जन मानस को प्रभावित करने वाली खबरों पर पैनी नज़र रखती आ रही हैं। बेबाकी से लिखने के साथ-साथ खाने पीने का अच्छा शौक है। लोकतंत्र के चौथे स्तंभ में योगदान जारी है।
error: Content is protected !!