सीतापुर : खबर पर कार्रवाई से बचने के लिए भू माफिया ने दे डाली आत्मा हत्या की धमकी

सीतापुर में टीवी पत्रकार पत्रकार हिमांशु पुरी सुधांशु पुरी और इंद्रपाल सिंह द्वारा सीतापुर में बनी अवैध केशव ग्रीन सिटी पर कई दिनों तक प्रमुखता से खबर प्रकाशित करने के बाद जब जिला प्रशासन ने भू माफिया पर शिकंजा कसना शुरू किया तो सीतापुर के भूमाफिया मुकेश अग्रवाल बौखला गए उन्होंने अपने सोशल मीडिया अकाउंट पर आत्महत्या की धमकी रुपए मांगने का वीडियो वायरल किया और पत्रकारों पर फर्जी मुकदमा दर्ज करा दिया

आपको बता दें कि उपरोक्त पत्रकारों की खबर के बाद जब प्रशासन ने कार्रवाई शुरू करी तो सीतापुर के अन्य पत्रकार इंद्रपाल सिंह जब अपनी खबर बनाने गए तो इस भूमाफिया ने अपनी केशव ग्रीन सिटी में उसे बंधक बना लिया और सीतापुर के सभी पत्रकारों समेत उपरोक्त पत्रकारों को जमकर मां बहन की गाली दे डाली।
जिसका वीडियो भी साहस करके पत्रकार इंद्रपाल सिंह ने बना लिया और पुलिस ने मुकदमा बंधक बनाने का दर्ज कर लिया जब भूमाफिया मुकेश अग्रवाल को वीडियो बनने की जानकारी हुई तो आनन-फानन में पत्रकार हिमांशु पुरी और सुधांशु पुरी के घर जाकर माफी भी मांग ली जिसका वीडियो भी मौजूद है और जब इन टीवी पत्रकारों ने लिखित माफी मांगने के लिए कहा तो भू माफिया ने यह समझ गया कि अगर लिखित माफी दी तो वह फंस सकता है।
जिसके बाद भू माफिया मुकेश अग्रवाल ने प्रशासनिक कार्रवाई से बचने के लिए अपने सोशल मीडिया अकाउंट पर पत्रकार हिमांशु सुधांशु एवं इंद्रपाल सिंह पर गंभीर आरोप लगाते हुए आत्महत्या की धमकी दे डाली और राजनैतिक और धनबल के सहारे तीनों पत्रकारों पर रंगदारी का फर्जी मुकदमा दर्ज करा दिया।
हालांकि पुलिस ने उपरोक्त तीनों पत्रकारों से साक्ष्य के रूप में वीडियो सीडी अपने कब्जे में कर ली है लेकिन 48 घंटे से ज्यादा वक्त बीत जाने के बाद भी भूमाफिया मुकेश अग्रवाल कोई प्रमाण पैसे मांगने का नहीं दे सके हैं ।
जिससे सीतापुर के पत्रकारों में बेहद आक्रोश है और पत्रकार जल्द मुख्यमंत्री और राज्यपाल से इसकी शिकायत भी करेंगे

आपको बता दें कि अवैध बन रही केशव ग्रीन सिटी बीते 5 वर्षों से यह कॉलोनी विकसित हो रही है और सीतापुर की इकलौती सरायन नदी का अस्तित्व खत्म हो रहा है नियमों की माने तो नदी से 100 मीटर की दूरी पर कोई भी निर्माण कार्य नहीं हो सकता लेकिन दबंगों ने सारे नियमों को दरकिनार कर नदी के पास की जमीन सब बेच डाली इतना ही नहीं हाई वोल्टेज लाइन के नीचे बने पार्क और मकान और विनियमित क्षेत्र में कमर्शियल नक्शा पास करके आवासीय बनाकर करोड़ों में बेच दिए गए कुछ वर्ष पूर्व जब टीवी के 5 पत्रकार इसकी खबर बनाने पहुंचे तो भूमाफिया ने उन पर भी गंभीर धाराओं में फर्जी मुकदमा रामकोट थाने में दर्ज करा दिया तब से कोई भी सीतापुर का पत्रकार इस अवैध बन रही के केशव ग्रीन सिटी में झांकने नहीं गया।

Leave a Reply