दिल्ली में मेट्रो संचालन -जानिए 7 सितंबर से क्या क्या होंगे फेरबदल

दिल्ली के परिवहन मंत्री श्री कैलाश गहलोत ने राजधानी में मेट्रो सेवाओं को फिर से खोलने के लिए मानक संचालन प्रक्रियाओं (एसओपी) की समीक्षा करने के लिए दिल्ली मेट्रो रेल कॉर्पोरेशन (DMRC) और परिवहन विभाग के अधिकारियों के साथ मुलाकात की। दिल्ली में मेट्रो परिचालन चरणबद्ध  तरीके से शुरू किया  जाएगा, इसके अंतर्गत दिल्ली  मेट्रो की   विभिन्न लाइनें 7 सितंबर से कार्यशील होने लगेंगी, और   12 सितंबर तक सभी लाइने  पूर्ण रूप से कार्यरत हो जायेंगी। 
दिल्ली में मेट्रो निम्नलिखित चरणबद्ध तरीके से फिर से खुलेंगी:


चरण -1 में, मेट्रो स्टेशनों का संचालन सुबह 7 बजे से 11 बजे तक और शाम को 4 बजे से शाम 8 बजे तक किया जाएगा। इस चरण में, तीन फेज होंगे अर्थात् फेज  -1, फेज-2 और फेज -3 : फेज- I , 7 सितंबर से शुरू होगा और रैपिड मेट्रो गुड़गांव सहित लाइन 2 को इस चरण में चालू किया जाएगा। फेज -2 में, जो 9 सितंबर से शुरू होगी, लाइन 3,4 और 7 को भी चालू किया जाएगा। चरण -1 के फेज -3 में, जो 10 सितंबर से शुरू होने जा रहा है, लाइन 1, 5 और 6 को चालू किया जाएगा।

11 सितंबर से शुरू होने वाले चरण- II में, मेट्रो सेवाएं सुबह 7 बजे से दोपहर 1 बजे और शाम 4 बजे से शाम 10 बजे तक होंगी। चरण – I के अलावा, लाइन 8 और 9 को भी इस स्टेज यानी चरण – II में चालू किया जाएगा।

12 सितंबर से शुरू होने वाले चरण – III में, मेट्रो सेवाएं सुबह 6 बजे से रात 11 बजे तक  पहले जैसे नियमित हो जायेंगी ।

यात्रियों  की भीड़ को काम करने के लिए , सभी स्टेशनों पर ट्रेनों की आवृत्ति को विनियमित किया जाएगा। सोशल डिस्टेंसिंग को सुनिश्चित करने के लिए स्टेशनों और ट्रेनों के अंदर मार्किंग भी  किया जाएगा। कन्टेनमेंट जोन में स्थित सभी स्टेशन बंद रहेंगे।  थर्मल स्क्रीनिंग के बाद, केवल स्वस्थ्य व्यक्तियों को ही यात्रा करने की अनुमति होगी। मास्क पहनना अनिवार्य होगा तथा सैनिटाइज़र यात्रियों के  उपयोग के लिए हर प्रवेश पॉइंट्स  पर उपलब्ध होगा। मेट्रो यात्रा के लिए फिलहाल टोकन इस्तेमाल नहीं किए जा सकेंगे क्योंकि उससे वायरस फैलने का खतरा ज्यादा है ।

स्मार्ट कार्ड , कैशलेस रिचार्ज  और आरोग्य सेतु ऐप के इस्तेमाल  को प्रोत्साहित किया जाएगा। इन सावधानियों के अलावा, दिल्ली सरकार पुलिस और दिल्ली मेट्रो के कर्मचारियों के साथ स्टेशनों पर सोशल डिस्टेंसिंग मानदंडों और भीड़ प्रबंधन का कड़ाई से अनुपालन सुनिश्चित करने के लिए सिविल डिफेंस वॉलंटियर्स और प्रवर्तन विभाग की तैनाती करेगी। स्टेशनो पर ट्रैन ज़्यादा देर तक रुकेंगी साथ ही  भीड़ को ध्यान में रखते हुए  कुछ स्टेशनो पर  ट्रेन नहीं  भी रुकेंगी। 

हीटिंग, वेंटिलेशन और एयर कंडीशनिंग (एचवीएसी) सिस्टम के संचालन के लिए केंद्रीय लोक निर्माण विभाग (सीपीडब्ल्यूडी) और इंडियन सोसायटी ऑफ हीटिंग, रेफ्रिजरेटिंग और एयर कंडीशनिंग इंजीनियर्स (ISHRAE) के दिशानिर्देशों का कड़ाई से पालन किया जाएगा।

स्टेशनों पर  एंट्री प्वाइंट की संख्या घटा कर एक या दो कर दी जाएगी ।  किओस्क, एटीएम एवं अन्य दुकानों को खुलने की इज़ाज़त सख़्त नियमो के पालन के साथ दी जाएगी । मेट्रो स्टेशनो पे पार्किंग की सुविधा चालू रहेगी परन्तु फीडर बसों का परिचालन फिलहाल बंद रहेगा।  सुरक्षा प्रोटोकॉल के बारे में यात्रियों को सूचित और शिक्षित करने के लिए, दिल्ली मेट्रो रेल कॉर्पोरेशन (DMRC) और परिवहन विभाग  विभिन्न माध्यमों द्वारा सूचना, शिक्षा और संचार अभियान (IEC)   चला रहा है।

मीटिंग के बाद श्री कैलाश गहलोत ने कहा, “डीएमआरसी के साथ मेट्रो सेवाओं को फिर से खोलने के लिए हमने एसओपी पर एक उपयोगी चर्चा की। मुझे खुशी है कि  दिल्ली  में मेट्रो फिर से शुरू हो जाएगा। इस संबंध में, हम यह सुनिश्चित करेंगे कि सभी आवश्यक सावधानी बरती जाए। मैं दिल्लीवासियों से अपील करना चाहूंगा कि वे यात्रा तभी करें जब  बिल्कुल आवश्यक हो, और व्यक्तिगत स्तर पर COVID प्रोटोकॉल का कड़ाई से अनुपालन सुनिश्चित करें। ”

Leave a Reply