यूपी यूपी में बड़े पैमाने पर धर्मांतरण  के खुलासे से बढ़ी सियासी हलचल

यूपी में बड़े पैमाने पर धर्मांतरण की पुलिस के खुलासे ने सियासी हलचल पैदा कर दी। पुलिस के इस खुलासे के बाद सीएम योगी ने भी बेहद सख्त निर्देश दिए है।सीएम योगी आदित्यनाथ ने कड़ी कार्रवाई के निर्देश दिए हैं। सीएम ने कहा कि इस सिंडिकेट में शामिल एक भी आरोपी बचने न पाए। उन्होंने सभी आरोपियों के खिलाफ राष्ट्रीय सुरक्षा कानून के तहत कार्रवाई करते हुए उनकी सम्पत्तियां जब्त करने के निर्देश दिए हैं। यूपी में धर्मांतरण के सवाल ओर यूपी कानून मंत्री बृजेश पाठक ने कहाकि

यूपी का माहौल खराब करने कि कोशिश है धर्मान्तरण

धर्मान्तरण को लेकर यूपी के कानून मंत्री बृजेश पाठक ने कहा कि धर्मान्तरण के जरिये यूपी के महौल को खराब करने कि कोशिश की जा रही है। इस पूरे मामले के उच्चस्तरीय जांच कराई जा रही है। जो लोग इन गैरकानूनी गतिविधियों में शामिल है,उन्हें किसी भी कीमत पर नही छोड़ा जाएगा।

1000 लोगों का धर्मांतरण: सीएम योगी आदित्यनाथ सख्त, रासुका का दिया आदेश, जब्त होगी प्रॉपर्टी

धर्मांतरण कराने वाले एक गिरोह के खुलासे के बाद सीएम योगी एक्शन में आ गए हैं। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने जांच एजेंसियों को धर्मांतरण मामले की पूरी तह में जाने का निर्देश दिए हैं। उन्होंने कहा है कि जो भी लोग इस मामले में संलिप्त हैं उनके खिलाफ गैंगस्टर लगाएं, एनएसए में निरुद्ध किया जाए। उनकी प्रॉपर्टी जब्त करने की कार्रवाई की जाए। 

ऐसी कार्यवाई होगी कि पीढियां याद रखेंगी

कानून मंत्री बृजेश पाठक ने कहा है कि इस मामले में शामिल आरोपियों पर ऐसी कार्यवाई होगी कि उनकी आने वाली पीढियां याद रखेंगी। उत्तर-प्रदेश में ऐसे किसी भी गैरकानूनी गतिविधि के लिए कोई जगह नही है। इस पूरे मामले को लेकर सीएम भी बेहद सख्त है और ये साफ है कि जबरन या प्रलोभन देकर धर्म परिवर्तन की कोई भी कोशिश कामयाब नही हो सकते है।

विदेशी फंडिंग को होगी जांच

कानून मंत्री कहते है की इस मामले में पुलिस की जांच में विदेशी फंडिंग की बात सामने आई है। अगर जांच में यह साबित होता है तो फिर इसके लिये सरकार केंद्रीय गृह मंत्रालय की सहयोग से उन संगठनों के खिलाफ भी कार्यवाई होगी। विदेशी में बैठकर यूपी में साजिश स्वीकार नही की जाएगी। अगर PFI जैसी संस्थाओं के नाम आते है तो फिर उन्हें भी वैन करने की कार्यवाई हो सकती है।

News Reporter
पंकज चतुर्वेदी 'नमामि भारत' वेब न्यूज़ सर्विस में समाचार संपादक हैं। मूल रूप से गोंडा जिले के निवासी पंकज ने अपना करियर अमर उजाला से शुरू किया। माखनलाल लाल चतुर्वेदी पत्रकारिता विश्वविद्यालय से पत्रकारिता में परास्नातक पंकज ने काफी समय तक राष्ट्रीय राजधानी में पत्रकारिता की और पंजाब केसरी के साथ काम करते हुए राष्ट्रीय राजनीति को कवर किया है। लेकिन मिट्टी की खुशबू लखनऊ खींच लाई और लोकमत अखबार से जुड़कर सूबे की सियासत कवर करने लगे। 2017 में पंकज ने प्रिंट मीडिया से इलेक्ट्रॉनिक मीडिया की तरफ रुख किया। उत्तर प्रदेश के प्रतिष्ठित चैनल न्यूज वन इंडिया से जुड़कर पंकज ने प्रदेश की राजनीतिक हलचलों को करीब से देखा समझा। 2018 से मार्च 2021 तक जनतंत्र टीवी से जुड़े रहें। पंकज की राजनीतिक ख़बरों में विशेष रुचि है इसीलिए पत्रकारिता की शुरुआत से ही पॉलिटिकल रिपोर्टिंग की तरफ झुकाव रहा है। वह उत्तर प्रदेश की राजनीति की बारीक समझ रखते हैं।

Leave a Reply