श्री रामलला को भव्य मंदिर में लगाया गया दही, पापड़, घी के साथ खिचड़ी का भोग

बिस्मिल्लाह खान

रामनगरी अयोध्या में मकर सक्रांति पर बड़ी संख्या में अयोध्या पहुंचे श्रद्धालुओं ने पवित्र सरयू नदी में स्नान कर हनुमान गढी, कनक भवन व राम जन्मभूमि के अस्थाई मंदिर में विराजमान श्री रामलला का दर्शन पूजन किया। वहीं, श्री रामलला को दही, पापड़, घी के साथ खिचड़ी का भोग भव्य मंदिर में लगाया गया। श्री राम जन्मभूमि परिसर के अस्थाई मंदिर में विराजमान भगवान श्री रामलला सहित अयोध्या के मठ मंदिरों में मकर संक्रांति का पर्व बड़े उल्लास के साथ मनाया गया इस पर्व को मनाने के लिए बड़ी संख्या में श्रद्धालु भी अयोध्या पहुंचे।

जहां श्रद्धालुओं ने पवित्र सरयू नदी में संक्रांति स्नान कर वस्त्र व अन्न दान किया। ऐसी मान्यता है कि आज के दिन पीला वस्त्र व अन्न दान किया जाता है। जिससे घर परिवार में सुख समृद्धि मिली है। मकर संक्रांति के पर्व पर अयोध्या के मठ मंदिरों में विशेष प्रकार के व्यंजनों से भगवान के गर्भ गृह में भोग लगाया गया तो वही राम जन्मभूमि परिसर में विराजमान भगवान श्री रामलला को भी इस वर्ष मकर संक्रांति पर दही पापड़ी अचार के साथ खिचड़ी भोग प्रसाद का भोग लगाया गया क्योंकि इस बार परिसर में भव्य मंदिर निर्माण का कार्य शुरू हो चुका है जिसके लिए भगवान को भव्य अस्थाई मंदिर में विराजमान कराया गया है।

भगवान श्री रामलला अपने अलौकिक और सुंदर भवन में बैठकर मकर संक्रांति के पर्व पर खिचड़ी का भोग प्राप्त किया है।रामजन्मभूमि के मुख्य पुजारी आचार्य सत्येंद्र दास ने बताया कि आज मकर संक्रांति का पर्व है यह पर्व पूरे देश में बड़े ही उल्लास के साथ मनाया जा रहा है क्योंकि भगवान श्री राम का भव्य मंदिर का निर्माण शुरू होने जा रहा है जिसमें पूरे देश के लोग बड़े ही उत्साह से मंदिर निर्माण के लिए सहयोग कर रहे हैं और इस वर्ष राम जन्मभूमि परिसर में भगवान श्री राम लला को अस्थाई सुंदर भवन में विराजमान हैं और पहली बार इस भवन में मकर संक्रांति के पर्व पर लगने वाले खिचड़ी प्रसाद भोग लगाया गया है। वही बताया कि इसी तरह अयोध्या के सभी मठ मंदिरों में भी विराजमान भगवान को भोग लगाए जाने के साथ ही अयोध्या आए श्रद्धालुओं को प्रसाद के रूप में खिलाया जा रहा है।

Leave a Reply