; खादी एक बार फिर वैश्विक हुआ; अमेरिकी फैशन ब्रांड “पैटागोनिया’’ ने अपने परिधानों के लिए खादी डेनिम को चुना - Namami Bharat
1win1.az luckyjet.ar mines-games.com mostbet-casino-uz.com bible-spbda.info роскультцентр.рф
खादी एक बार फिर वैश्विक हुआ; अमेरिकी फैशन ब्रांड “पैटागोनिया’’ ने अपने परिधानों के लिए खादी डेनिम को चुना

टीकाऊपन और शुद्धता के प्रतीक खादी ने वैश्विक फैशन क्षेत्र में बड़ी छलांग लगाई है। अमेरिका स्थित विश्‍व के अग्रणी फैशन ब्रांड पैटागोनिया अब डेनिम परिधान बनाने के लिए हाथ से बने खादी डेनिम कपड़ों का उपयोग कर रहा है। पैटागोनिया ने कपड़ा बनाने वाली कंपनी अरविन्‍द मिल्‍स के माध्‍यम से लगभग 30,000 मीटर खादी डेनिम कपड़ा गुजरात से खरीदा है। इसकी कीमत 1.08 करोड़ रुपये है।

https://static.pib.gov.in/WriteReadData/userfiles/image/image0018M6C.jpg

जुलाई 2017 में खादी और ग्रामोद्योग आयोग (केवीआईसी) ने खादी डेनिम उत्‍पादों का विश्‍व में व्‍यापार करने के लिए अरविन्‍द मिल्‍स लिमिटेड, अहमदाबाद के साथ समझौते पर हस्‍ताक्षर किए थे। अरविन्‍द मिल्‍स केवीआईसी प्रमाणित गुजरात के खादी संस्‍थानों से प्रत्‍येक वर्ष बड़ी मात्रा में खादी डेनिम कपड़ा खरीदती है। 

https://static.pib.gov.in/WriteReadData/userfiles/image/image002FE35.jpg

केवीआईसी की इस नई पहल से गुजरात के खादी दस्‍तकारों के लिए न केवल अतिरिक्‍त मानव घंटों का सृजन हो रहा है, बल्कि प्रधानमंत्री का‘‘लोकर टू ग्‍लोबल’’ का सपना भी पूरा हो रहा है। पैटागोनिया द्वारा खादी डेनिम खरीदने से 1.80 लाख मानव घंटों का सृजन हुआ है, यानी खादी बुनने वालों के लिए 27,720 मानव दिवस का सृजन हुआ है। अक्‍टूबर 2020 में ऑर्डर दिया गया और समय के अनुसार 12 महीने में यानी अक्‍टूबर, 2021 में यह पूरा कर लिया गया।

केवीआईसी के अध्‍यक्ष श्री विनय कुमार सक्‍सेना ने कहा कि खादी सर्वाधिक फैशनेबल और ट्रेंड सेटिंग पहनावा हो गया हैजबकि खादी ने विश्‍व में सर्वाधिक टिकाऊ और पर्यावरण अनुकूल कपड़े का अपना मौलिक मूल्‍य बनाये रखा है। उन्‍होंने कहा कि खादी डेनिम विश्‍व में अकेला हाथ से बना डेनिम कपड़ा है जिसे देश और विदेश में व्‍यापक लोकप्रियता मिली है। खादी डेनिम का उपयोग तेजी से अग्रणी फैशन ब्रांड कर रहे हैं क्‍योंकि इसकी गुणवत्‍ता श्रेष्‍ठ है, यह अरामदेह है, जैविक है और इसकी गुणवत्‍ता पर्यावरण अनुकूल है। खादी डेनिम प्रधानमंत्री द्वारा परिकल्पित‘‘लोकल टू ग्‍लोबल’’ का सटीक उदाहरण है।

पिछले वर्ष पैटागोनिया का एक दल राजकोट के गोंडल स्थित खादी संस्‍थान उद्योग भारती का दौरा किया। यह दल खादी डेनिम बनाने की प्रक्रिया देखने आया था। बनाने की प्रक्रिया और हाथ से बने खादी डेनिम कपड़े की गुणवत्‍ता से प्रभावित होकर पैटागोनिया ने अ‍रविन्‍द मिल्‍स के माध्‍यम से विभिन्‍न मात्राओं में खादी डेनिम कपड़ा खरीदने का आदेश दिया।

खरीद को अंतिम रूप देने से पहले पैटागोनिया ने अमरीका स्थित वैश्विक डर्थ पार्टी असेसर (मूल्‍यांकनकर्ता) नेस्‍ट की नियुक्ति गोंडल में डेनिम बनाने की सम्‍पूर्ण प्रक्रिया यानी कताई, बुनाई, भुनाई, डाईन, वेतन भुगतान, श्रमिकों की आयु का सत्‍यापन आदि सम्‍पूर्ण प्रक्रिया के मूल्‍यांकन के लिए की। उद्योग भारती के सभी मानकों का व्‍यापक मूल्‍यांकन करने के बाद नेस्‍ट ने प्रमाण-पत्र में कहा, ‘‘कताई और हथकरघा बुनाई का काम अब नेस्‍टसील ऑफ एथिकल हैंडक्राफ्ट के लिए पात्र हो गये हैं।’’ यह पहला मौका है जब कार्यसंचालन में आचार मानकों की पूर्ति के लिए देश में किसी संस्‍थान का मूल्‍यांकन और प्रमाणीकरण अंतर्राष्‍ट्रीय स्‍वतंत्र मूल्‍यांकनकर्ता द्वारा किया गया है।

चार प्रकार के डेनिम कपड़ों के लिए ऑर्डर दिये गए हैंजो 100 प्रतिशत सूती हैं और जिनकी  चौड़ाई 28 इंच से 34 इंच है।

News Reporter
पत्रकारिता के क्षेत्र में अपना करियर बनाने वाली निकिता सिंह मूल रूप से उत्तर प्रदेश के आजमगढ़ से ताल्लुक रखती हैं पिछले कुछ सालों से परिवार के साथ रांची में रह रहीं हैं और अब देश की राजधानी दिल्ली में अपनी सेवा दे रहीं हैं। नेशनल ब्रॉडकास्टिंग अकादमी से पत्रकारिता में स्नातक करने के बाद निकिता ने काफी समय तक राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली के न्यूज़ पोर्टल्स में काम किया। उन्होंने अपने कैरियर में रिपोर्टिंग से लेकर एंकरिंग के साथ-साथ वॉइस ओवर में भी तजुर्बा हासिल किया। वर्त्तमान में नमामि भारत वेब चैनल में कार्यरत हैं। बदलती देश कि राजनीती, प्रशासन और अर्थव्यवस्था में निकिता की विशेष रुचि रही है इसीलिए पत्रकारिता की शुरुआत से ही आम जन मानस को प्रभावित करने वाली खबरों पर पैनी नज़र रखती आ रही हैं। बेबाकी से लिखने के साथ-साथ खाने पीने का अच्छा शौक है। लोकतंत्र के चौथे स्तंभ में योगदान जारी है।
error: Content is protected !!