केशव मौर्य का हमला- यूपी में तबलीगियों ने बढ़ाई कोरोना पॉजिटिव केसों की संख्या

मनोज श्रीवास्तव/लखनऊ।उपमुख्यमंत्री केशव मौर्य ने कहा है कि प्रदेश एवं देश में कोरोना से संक्रमित मरीजों की संख्या जिस प्रकार से बढ़ रहा हैं, उसके पीछे सबसे महत्वपूर्ण कारण दिल्ली के मरकज में शामिल हुए तबलीगी जमात के लोग हैं। इस जमात के कारण संक्रमण से आज देश एवं प्रदेशवासी संकट के दौर से गुजर रहे हैं। समाज का एक बड़ा तबका इस संक्रमण से भय ग्रस्त है,जिसका मुख्य कारण तबलीगी जमात है। उत्तर प्रदेश में अब तक के कुल कोविड-19 के संक्रमित व्यक्तियों में मरकज के लोगों की संख्या सबसे अधिक है। यही नहीं विभिन्न जनपदों में इन लोगों के उद्दंड कार्यों की भी सूचनाएं लगातार प्राप्त हो रही हैं, जिसमें हमारे कोरोना योद्धाओं जैसे पुलिस, डॉक्टर, नर्सेज आदि के साथ गलत व्यवहार कर रहे हैं। जो किसी भी रूप में सही नहीं है। यह बहुत ही चिंताजनक है।बढ़ते हुए कोरोना मरीजों की संख्या के कारण प्रदेश सरकार ने 15 जनपदों के अति संक्रमित क्षेत्रों में “हॉटस्पॉट” कर एक-एक घर को सैनेटाइज किया जा रहा है।शेष प्रदेश में पूर्ण लॉक डाउन करना है। सभी लोग नियमों का पालन करें। किसी को घबराने की जरूरत नहीं है, प्रदेश सरकार पूरी मुस्तैदी के साथ कार्य कर रही है। सरकार  किसी भी व्यक्ति को किसी प्रकार की दिक्कत नहीं होने देगी। राशन, दवा एवं सब्जियां इत्यादि को होम डिलीवरी के माध्यम से पहुंचाने का काम कर रही है। उन्होंने जनता से अपील किया कि सभी लोग जिला प्रशासन का सहयोग करें और प्रदेश को कोरोना वायरस से मुक्ति दिलाने में अपना सहयोग प्रदान करें। मौर्य ने समस्त ग्राम प्रधानो सभासदो एवं कोटेदारों से अपील की है कि यह संकट का समय है, इसमें ज्यादा से ज्यादा आपके समर्थन की जरूरत है। यह सुनिश्चित करें कि आपके गांव/शहर में कोई भी व्यक्ति चाहे वह मजदूर हो, किसान हो,रोज खाने कमाने वाले लोग हों, सिलाई करने वाले लोग, प्रेस करने वाले लोग या अन्य कार्य करने वालों को किसी भी कारण से भूखे ना सोने पाए, चाहे उसका राशन कार्ड बना है या नहीं। हम सभी लोगों की जिम्मेदारी बहुत अधिक है और सभी ग्राम प्रधान एवं कोटेदार इस दिशा में काम कर रहे हैं, जो बहुत ही हर्ष की बात है किंतु अभी भी कुछ जगह से शिकायतें सोशल मीडिया एवं मीडिया के माध्यम से प्राप्त हो रही हैं,जो किसी भी दशा में ऐसा नहीं होना चाहिए, यदि ऐसी कोई भी जानकारी प्राप्त होती है जिसमें किसी भी कार्ड धारक को प्रदेश सरकार द्वारा निर्धारित किया गया राशन नहीं दिया गया तो उस कोटेदार एवं इंस्पेक्टर पर जिला प्रशासन कार्यवाही करने के लिए बाध्य होगा। मजदूरों में खाते में एक हजार रुपये दिए गए हैं।गरीब परिवारों के लोग जिनका जनधन खाता है, उसमें ₹500 /-प्रति महीने सीधा केंद्र सरकार द्वारा उनके खाते में डालने का काम प्रारंभ हो गया है। कोरोना संक्रमण से निपटने में जिन लोगों ने अपना समर्थन दिया है उनका वह हृदय से अभिनंदन करते हैं। आम लोगों का आह्वान है कि  प्रधानमंत्री केयर फण्ड और उत्तर प्रदेश कोविड-19 केयर  फंड मे अधिक से अधिक अनुदान/आर्थिक सहयोग प्रदान करें।

Leave a Reply